1 अक्टूबर से की जाएगी धान की खरीदी, इस बार का भाव है ₹2040 प्रति कुंटल

0
80
Paddy purchased at MSP
1 अक्टूबर से धान की खरीदी

1 अक्टूबर से धान की खरीदी

कई राज्यों के किसान धान कटाई  की शुरुआत कर चुके हैं. इस शुरुआत के साथ सरकारों द्वारा भी न्यूनतम समर्थन मूल्य पर धान की खरीदारी के लिए तैयारी शुरू कर दी है. इसके लिए राज्य सरकारों द्वारा खरीदी की तारीखों की घोषणा भी कर दी गई है. इसी कड़ी में हरियाणा राज्य की सरकार द्वारा धान खरीदी की शुरुआत 1 अक्टूबर से जारी की जाएगी. जो 15 नवंबर 2022 तक चालू रहेगी. सरकार द्वारा इस बार 55 लाख मैट्रिक टन धान खरीदी  के लक्ष्य को रखा गया है. इसके अलावा इस वर्ष सरकार ने मंडी में लगने  वाला बाजार शुल्क में भी कुछ परिवर्तन किए हैं.

इसके अतिरिक्त हरियाणा राज्य सरकार द्वारा इस वर्ष यह भी निर्णय लिया गया है. कि समर्थन मूल्य पर धान खरीदने के लिए जिन क्षेत्रों में अच्छी पैदावार होती है. उन क्षेत्रों में औसत पैदावार 30 कुंटल प्रति एकड़ व अन्य क्षेत्रों में 28 कुंटल प्रति एकड़ तक माना जाएगा.

यह भी पढ़े : किसानों को ₹50000 का लोन बिना गारंटी के पाएंगे, इस बैंक द्वारा चलाई जा रही हैं यह योजना

किसानों को पड़ेगा इतना बाजार शुल्क

हरियाणा राज्य की सरकार द्वारा इस साल यह फैसला लिया गया है. कि जो धान न्यूनतम समर्थन मूल्य एमएसपी पर नहीं खरीदा जाता है उन पर 4% बाजार शुल्क की जगह ₹100 प्रति कुंतल शुल्क देना होगा. जिसमें से ₹50 मंडी बोर्ड को दिए जाएंगे और ₹50 हरियाणा ग्रामीण विकास खंड में उपस्कर के रूप में जमा किए जाएंगे. धान की बासमती व डुप्लीकेट बासमती आदि को एम०एस०पी० मूल्य पर नहीं खरीदा जाता है.

यह फसले भी खरीदी जाएंगी न्यूनतम समर्थन मूल्य पर

राज्य सरकार द्वारा खरीफ के सत्र 2022-23 के दौरान इस साल धान, बाजरा, मक्का,मूंग, सूरजमुखी, मूंगफली, तिल, अरहर और उड़द आदि फसलों की खरीदी की जाएगी. 1 अक्टूबर से मूंग की खरीदी शुरू की जाएगी और 15 नवंबर तक जारी रहेगी. इसके अलावा मूंगफली की करीब दी 1 नवंबर से 31 दिसंबर तक की जाएगी. साथ ही अरहर, उड़द और तिल की खरीदी 1 दिसंबर से शुरू की जाएगी जो 31 दिसंबर 2022 तक जारी रहेगी.

धान एवं अन्य खरीफ फसलों की खरीदी की जाएगी इस मूल्य पर

राज्य सरकार द्वारा घोषित की गई न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खड़ी फसलों की खरीदी की जाएगी. जिसमें धान (कॉमन) का मूल्य ₹2040 प्रति कुंतल, धान ब्रेड ए के लिए ₹2060 प्रति कुंतल, बाजरा के लिए ₹2350 प्रति कुंतल, मक्का के लिए 1962 रुपए प्रति कुंतल,मूंग के लिए ₹7755 प्रति कुंतल, सूरजमुखी के लिए ₹6400 प्रति कुंतल, मूंगफली के लिए ₹5850 प्रति कुंटल, तिल के लिए ₹7830 प्रति कुंतल, अरहर व उड़द के लिए ₹6600 प्रति कुंतल न्यूनतम समर्थन मूल्य निर्धारित किया है.

धान की खरीदी के लिए 200 से अधिक मंडियां निर्धारित

हरियाणा की राज्य सरकार द्वारा इस साल खरीफ फसलों की निर्बाध खरीदी के लिए पर्याप्त मात्रा में मंडियों की व्यवस्था की है. जिसमें से सरकार द्वारा धान खरीद के लिए 201 मंडी, बाजरा खरीद के लिए 86 मंडियां, मक्का खरीद के लिए 19 मंडिया, मूंग खरीद के लिए 38 मंडियां, सूरजमुखी खरीद के लिए 9 मंडियां, मूंगफली खरीद के लिए 7 मंडिया, तिल की खरीद के लिए 27 मंडियां, अरहर की खरीद के लिए 22 मंडियां और उड़द की खरीद के लिए 10 मंडियां का निर्धारण किया गया है.

यह भी पढ़े : पॉलीहाउस में खीरा कैसे उगाते हैं? आइए जाने इसकी पूरी जानकारी

किसानों की समस्या के लिए हेल्प डेस्क  की सुविधा

किसानों  को मंडी में किसी प्रकार की समस्या ना हो इसके लिए हेल्प डेस्क की सुविधा को स्थापित किया गया है. इस हेल्प डेस्क पर मार्केटिंग बोर्ड कृषि एवं संबंधित विभाग के अधिकारियों का चुनाव किया गया है. जो किसानों से मिलने वाली  शिकायतों को तुरंत  ही समाधान करेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here