GENDA KI KHETI KI JANKARI : किसान भाई इसके फूल की खेती में हजारों लगाए और लाखों कमाए, जानिए कैसे

0
GENDA KI KHETI KI JANKARI
गेंदा फूल की खेती

GENDA KI KHETI KI JANKARI | गेंदा फूल की खेती में लागत कम और अधिक मुनाफा

देश के किसान अब ऐसी खेती की तरफ रुख कर रहे है. जिनमें लागत कम में अधिक मुनाफ हो. क्योकि परम्परागत खेती फसलों में लगात अधिक आती है, और मुनाफ भी कम मिलता है. ऐसे में किसान भाई अब फूलों की खेती को भी अपना रहे है. जिनमे से कुछ ऐसे फूल है जिनमे लागत भी कम आती है और मुनाफ भी होता है. इन फूलों में एक फूल गेंदा (GENDA PHOOL) भी है.

गेंदा की खेती (MARIGOLD FARMING) किसान भाई बहुत आसानी से कर सकते है. और इससे बहुत कम समय और कम लागत में अच्छे पैसे भी कमा सकते है. क्योकि गेंदा फूल की मांग पूरे वर्ष रहती है. वही शादी-बारात या अन्य धार्मिक कार्यक्रमों के सीजन में इसकी मांग बहुत बढ़ जाती है. उस समय इसकी कीमत भी बढ़ जाती है. इसलिए किसान भाई गेंदा की खेती कर पूरे साल पैसे कमा सकते है. तो आइये गाँव किसान के इस लेख के जरिये आप सभी को गेंदा की खेती की पूरी जानकारी (GENDA KI KHETI KI JANKARI) देते है.

गेंदा की खेती का उपयुक्त समय

देश में गेंदे की फूल की पूरे साल सर्दी, गर्मी और बरसात तीनों में मौसम में की जाती है. लेकिन खरीफ फसलों के मौसम में गेंदे की खेती के लिए एकदम उपयुक्त होता है. जिसमें इसकी रोपाई जून के महीने से लेकर सितम्बर तक कभी भी की जा सकती है. जिसमें फूलों की उपज सितम्बर से अक्टूबर महीने तक शुर हो जाती है.

यह भी पढ़े : इस वजह से अब गन्ना की खेती करने वाले किसानों को नही मिलेगी पर्ची, जानिए क्या है वजह 

ज्यादातर किसान भाई अच्छी आमदनी के इसको मई-जून के महीने में लागते है. क्योकि इसकी फसल उस समय तैयार होती है जब नवरात्री और दीपावली के समय इसके मूल्यों में वृध्दि हो जाती है. जिससे किसानों को इसकी खेती से अच्छा खासा मुनाफा प्राप्त होता है.

गेंदा के फूल का बीज कहाँ से ले

जो भी किसान भाई गेंदे के फूल (Marigold Flower) की खेती करना चाहते है. उनके समाने सबसे बड़ी समस्या यह होती है. कि उन्हें बीज (genda seed) कहाँ से उपलब्ध होगा. तो इसके लिए किसान भाई इसके बीज अपने क्षेत्र में किसी फूल की खेती करने वाले किसान से या फिर ऑनलाइन भी इसके बीजों को खरीद कर इसकी नर्सरी तैयार कर रोपाई करे.

अगर किसान भाई खुद नर्सरी तैयारी करना चाहते है. तो इसके लिए नवम्बर या दिसम्बर के महीने में इसकी तैयारी कर सकते है. क्योकि इस समय गेंदे के फूल मुरझाकर सूख जाते है. उस समय आप फूलों की पंखुड़ियों को तोड़कर उन बीजों को जनवरी के महीने में नर्सरी तैयार कर सकते है. उसके उपरांत आप पौधों की रोपाई कर सकते है.

इसके अलावा किसान भाई गेंदे की खेती कमल विधि से करना चटा है. तो इसके लिए जून से सितम्बर तक इसकी कलम कटिंग के द्वारा तैयार कर सकते है.

कौन-कौन से उर्वरक डाले है गेंदे की खेती में ?

गेंदा की खेती की अच्छी उपज के लिए खाद एवं उर्वरक की संतुलित मात्रा की आवश्यकता होती है. जिसमें किसान भाई रोपाई वाले खेत में गोबर की सड़ी हुई खाद या कम्पोस्ट खाद खेत तैयार करते समय डालनी चाहिए. इसके अलावा 80 किलोग्राम यूरिया, 120 किलोग्राम डीएसपी तथा 60 किलोग्राम पोटाश का उपयोग किया जाना चाहिए. जिससे खेत की उर्वराशक्ति काफी बढ़िया हो जाती है.

कब करे पौधों की रोपाई (GENDA KI KHETI KI JANKARI)

पौधों की नर्सरी तैयार होने के बाद तैयार खेत में पौधों की रोपाई करनी चाहिए. रोपाई के लिए पौधे से पौधे की दूरी 1 फीट और कतार से कतार की दूरी 2.5 से 3 फीट रखनी चाहिए. रोपी के तुरंत बाद इसके पौधों को पानी देना चाहिए.

गेंदे की खेती वैसे तो पूरे साल मुनाफे का सौदा साबित होती है लेकिन गर्मी के मौसम इसकी खेती फायदेमंद साबित होती है. क्योकि इस समय शादियों का सीजन होता है. इसलिए इसका उपयोग शादियों के मंडप और जयमाल स्टेज सजाने लिए किया जाता है.इसलिए गर्मियों में इसकी खेती से उपज प्राप्त करने के लिए जनवरी के महीने में इसकी रोपाई करनी चाहिए.

गेंदे के फूलों का सर्वाधिक उपययोग

गेंदे के फूलों का सर्वाधिक उपयोग स्टेज, मंडप सजाना, दूल्हे की गाड़ी सजाना, वरमाला और सजावटी माला बनाने के लिए के अलाव और भी कई जगह सजावट के काम के लिए इनके फूलों का उपयोग करना चाहिए.

यह भी पढ़े : छत्तीसगढ़ की तरह हिमाचल के पशुपालक किसान सरकार को बेच सकेगें गोबर, आइये जाने प्रति किलों का कितना रूपया मिलेगा

गेंदे की खेती से किसानों को लाभ

किसान भाइयों को गेंदे के से काफी लाभ है जो निम्नवत है –

  • इसकी खेती से किसान भाई कम खर्चे में अधिक मुनाफा कमा सकते है.
  • गेंदे की खेती से किसान भाइयों के खेत की उर्वरा शक्ति बढाती है.
  • गेंदे के फूलों से किसान भाई तेल भी प्राप्त कर सकते है. जिसका उपयोग कई उत्पादों को बनाने में किया जाता है.
  • गेंदे के फूलों से बनाये अर्क से कई स्वास्थ्य सम्बन्धी फायदे भी मिलते है.
  • गेंदे का बाजार भाव अपने निकटम फूल मंडी में पता कर सकते है. वैसे इसका मूल्य 35 से 40 रुपये किलों के आसपास रहता है. वही सीजन के समय यह 50 रुपये तक पहुँच जाता है.
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here