मिलेट्स से जुड़ा कोई काम शुरू करने के लिए सरकार कर रही है मदद,इस तरह मिलेगा अनुदान का लाभ

0
millets subsidy
सरकार द्वारा अनुदान

मोटे अनाजों से जुड़ा काम शुरू करने पर सरकार द्वारा अनुदान

मोटे अनाजों की खेती को बढ़ावा देने के लिए सरकार लगातार प्रयास कर रही है. ऐसे में मोटे अनाजों की मांग भी बाजार में बढ़ रही है. और बाजार में मोटे अनाजों का दायरा भी बढ़ रहा है. इसी को देखते हुए सरकार उन किसानों और संगठनों को प्रोत्साहा दे रही है. जो मोटे अनाजों को लेकर काम शुरू करना चाहते है.

राज्य के जो भी किसान भाई बाजरा, रागी, ज्वार, कुटकी, कुट्टू, और रामदाना से जुड़ा काम शुरू करना चाहते है. उन्हें उत्तर प्रदेश मिलेट्स पुनरुद्धार कार्यक्रम के तहत अनुदान दिया जाएगा. यह अनुदान बीज उत्पादन के लिए सीडमनी, मिलेट्स प्रसंस्करण, पैकिंग सह विपणन केंद्र, मिलेट्स मोबाइल आउटलेट और मिलेट्स स्टोर खोलने के लिए दिया जाएगा. 

कैसे करे किसान भाई ऑनलाइन आवेदन

किसान भाई या संगठनों को इस योजना का लाभ लेने के लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा.

आवेदन करने के लिए आवेदक को उत्तर प्रदेश की कृषि विभाग की ऑफिसियल वेबसाइट www.agriculture.up.gov.in पर जाकर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करना पडेगा.

यह भी पढ़े : इस फसल की खरीदी पर सरकार देगी 117 रूपये प्रति कुंतल बोनस, आइये जाने पूरी खबर

इसमें आवेदक को वहां माँगा गया पूरा विवरण भर कर सबमिट करना होगा. आवदेन सबमिट करने से पहले आवेदक को यह जांच लेना चाहिए, कि वहां भरी गयी सभी जानकारी सही भरी गयी है. अन्यथा रजिस्ट्रेशन गलत होने पर योजना का लाभ नही मिल पायेगा.

आवेदक द्वारा रजिस्ट्रेशन करने के बाद उसका प्रिंट मिल जायेगा. जिसमें रजिस्ट्रेशन संख्या के साथ संलग्न किए जाने वाले सभी पेपरों की चेकलिस्ट दी हुई होगी.

इसके उपरांत मांगे गए सभी कागजात को रजिस्ट्रेशन प्रिंट के साथ आवेदक को अपने जिले के उप कृषि निदेशक के ऑफिस में जाकर जमा करने होंगे.

वही आवेदन के लिए पात्रता एवं शात्रों की जानकारी विभाग की ऑफिसियल वेबसाइट पर दी गई है. आवेदन से पहले जरुर पढ़ ले.

आवेदक को इसका लाभ लेने के लिए 11 दिसंबर 2023 को दोपहर 12 से 16 दिसंबर 2023 को रात 12 तक आवेदन के लिए रजिस्ट्रेशन कर सकते है.

मोटे अनाजों के बीज उत्पादन के लिए सीडमनी का प्राविधान

सीडमनी के लाभ के लिए केवल कृषि उत्पादक संगठन (FPO) ही आवेदन कर सकते है. इसके लिए सरकार की तरफ से प्रति कृषि उत्पादक संगठन को 4 लाख रुपये दिया जाएगा. लेकिन यह लाभ उसी कृषि उत्पादक संगठन को दिया जाएगा. जो 2023 में मिलेट्स बीज का उत्पादन कर चुका हो.

साथ ही उस कृषि उत्पादक संगठन द्वारा 100 कुंटल मिलेट्स के फसलों के बीज को निकलने सही प्रक्रिया अपनाकर अच्छी तरह भंडारित किया गया होगा.

मिलेट्स प्रसंस्करण और पैकिंग सह विपणन के अनुदान के लिए पात्रता

इन दोनों के लिय कृषि उत्पादक संगठन और उद्यमी दोनों ही अनुदान के लिए आवेदन कर सकते है. वही डीपीआर के मुताबिक़ लागत का 50 प्रतिशत या अधिक 47.50 लाख तक लाभ मिल पायेगा. लेकिन इसमें शर्त यह होगी की यह कम से कम तीन साल पुराना और 100 लाख तक टर्नओवर होना आवश्यक है.

यह भी पढ़े : गेहूं की इस किस्म का उपयोग किया जाता है नूडल, पिज्जा बनाने में, इसीलिए किसान इसकी बुवाई कर कमा सकते है अच्छा मुनाफा

मिलेट्स मोबाइल आउटलेट और मिलेट्स स्टोर के लिए पात्रता

इन दोनो का लाभ सभी सहायता समूह, कृषि उत्पादक संगठन,उद्यमी एवं किसान उठा सकते है. डीपीआर के मुताबिक इसमें मिलेट्स मोबाइल आउटलेट के लिए अधिकतम 10 लाख और मिलेट्स स्टोर के लिए अधिकतम 20 लाख तक है. वही इसकी पात्रता में यह बताया गया है. कियाः तीन साल पुराना होना चाहिए. इसके अलवा मोबाइल आउटलेट गाड़ी एवं स्टोर करने के लिए एक दूकान होनी आवश्यक है. वही आवेदक संस्था के बैंक खाते में 10 लाख तक की पूँजी होना अनिवार्य है.

स्वयं सहायता समूह, कृषक उत्पादक संगठन, उद्यमी एवं किसानों में से किसी को भी केवल मिलेट्स मोबाइल आउटलेट या मिलेट्स स्टोर में से एक का ही आवेदन का लाभ मिल पायेगा.

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here