GOAT FARMING IN INDIA | बकरी पालन से हो सकती है मोटी कमाई, केंद्र सरकार भी कर रही है मदद

0
296
GOAT
GOAT FARMING IN INDIA

बकरी पालन से हो सकती है मोटी कमाई (GOAT FARMING)

आदिकाल से बकरियां (GOAT) मानव जाति की घरेलू सहचर रही है. यह सभी तरह के मौसमों में रह सकती है. भारत के सभी भौगोलिक क्षेत्रों में सदियों से बकरियां (goat farming in india) सर्वाधिक निर्बल, भूमिहीन, कृषि श्रमिक, किसान, आर्थिक रूप से पिछड़ी जातियां और सीमांत कृषको की जीवन शैली और आकांक्षाओं के साथ बहुत निकट से जुडी हुई है.

आज देश में बेरोजगारी बढ़ रही है. युवाओ के पास रोजगार नही है. युवा खुद का रोजगार शुरू कर सके, इसके लिए सरकारों द्वारा कई योजनाये चलाई जा रही है. अगर कोई युवा या किसान बकरी पालन का व्यवसाय शुरू करने का इच्छुक है तो केंद्र सरकार द्वारा चलाई जा रही योजना से आर्थिक मदद मिलती है.

बकरी पालन से लाभ (benefits of goat farming)

बकरी पालन के कई महत्वपूर्ण लाभ (goat farming profit) है. अपने छोटे आकर के कारण इसे गरीब की गाय कहा गया है. इसके पालन और रखरखाव पर प्रारंभिक खर्च बहुत कम होता है. जिससे हानि की सम्भावना कम हो जाती है.

बकरी पालन बेरोजगार युवाओ या निर्बल वर्ग के परिवारों के जीवन निर्वाह का एक महत्वपूर्ण व्यवसाय है. जिससे उन्हें जैविक, आर्थिक और प्रबंधीय लाभ मिलते है. इस व्यवसाय से निश्चित आय तथा मांस व दूध भी प्राप्त होता है.

यह भी पढ़े : Pashu Kisan Credit Card Kya Hai | सरकार पशुपालन के लिए कर रही है मदद, जानिए इसके लिए ऋण कैसे पाए ?

राष्ट्रीय पशुधन मिशन योजना की शुरुवात (National Livestock Mission Scheme launched)

गावों में रोजगार बढ़ने के लिए केंद्र सरकार द्वारा राष्ट्रीय पशुधन मिशन योजना (National Livestock Mission) की शुरुवात की गयी. जिसमें पशुपालन के लिए सरकार द्वारा अनुदान दिया जाता है. ऐसे में अगर कोई युवा या कृषक बकरी पालन करना चाहता है. तो उसे बकरी पालन पर अनुदान दिया जायेगा.

राष्ट्रीय पशुधन मिशन योजना (National Livestock Mission) में बहुत सारी योजनायें है, जिसमें अलग-अलग अनुदान दिया जाता है. इस योजना में अलग-अलग राज्यों में सरकारों द्वारा अनुदान की मात्रा भी अलग-अलग है. क्योकि यह केंद्र सरकार की योजना है.लेकिन कई राज्यों की सरकारे इसमें अपनी तरफ से अनुदान में कुछ अंश जोड़ देती है. जिससे अनुदान की राशि बढ़ जाती है.

यह भी पढ़े : मल्टी लेयर मल्टी क्रॉप माडल के तहत यह किसान एक हेक्टेयर में कर रहा है 70 फसलों की खेती

अनुदान पाने के लिए कैसे करे आवेदन (How to apply for grant)

अगर आप बकरी पालन करना चाहते है तो इसके लिए आप को कुछ बातों का ध्यान रखना पड़ेगा. बकरी पालन के शुरुवात के लिए आपको अपने विकास खंड में  पशु चिकित्सा अधिकारी को एक आवेदन पत्र देना पड़ेगा. पशु चिकित्सा अधिकारी के यहाँ आये सारे आवेदन पत्रों में से कुछ आवेदन पत्रों को वह चुनता है. जिन्हें वह जिला स्तरीय पशुधन समिति के पास भेजता है. अंतिम चयन जिला समिति ही करती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here