Solar pump subsidy : अपनी पसंद के सोलर पम्प पर किसान भाई पाए 20000 रुपये का अनुदान, जाने आवेदन की प्रक्रिया

0
197
Solar pump subsidy
Solar pump subsidy

Solar pump subsidy – सोलर पम्प पर किसान भाई पाए 20000 रुपये का अनुदान

हमारे देश की अर्थव्यवस्था में कृषि (Agriculture Sector in Indian Economy) की महत्वपूर्ण भूमिका है. इसलिए  कृषि की स्थिरता के लिए केन्द्रीय सरकार एवं राज्य सरकारों द्वारा समय-समय पर किसानों के लिए कृषि योजनाये लागू की जाती है जिससे किसानों की आज में बढ़ोत्तरी हो सके. इसलिए पानी की कमी वाले क्षेत्रों के लिए, छत्तीसगढ़ सरकार (Chhattisgarh) ने बेहतर फसल के लिए रियायती दर पर सौर पंप वाले किसानों की सहायता के लिए सौर सुजाला योजना (Saur Sujala Scheme) शुरूवात है. जिससे उनकी उपज में बढ़ोत्तरी हो सके. सरकार की यह योजना (Solar pump subsidy) ऊर्जा विभाग द्वारा छत्तीसगढ़ राज्य अक्षय ऊर्जा विकास प्राधिकरण (CREDA) के द्वारा से शुरू की गई है.

क्या है सौर सुजाला योजना ? (What is Saur Sujala Scheme)

इस योजना (Saur Sujala Scheme) की शुरुवात किसानों की फसलों में सुधार और किसानों के उत्थान के लिए की गई है.यह सोलर सुजाला योजना छत्तीसगढ़ सरकार ने किसानों की फसलों की सिंचाई से जुड़ी समस्याओं के समाधान के लिए शुरू की है. Saur Sujala Scheme के तहत किसानों को कम कीमत पर सोलर पंप उपलब्ध कराकर फसलों की सिंचाई से जुड़ी समस्याओं का समाधान किया जाएगा. छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा छत्तीसगढ़ सौर सुजाला योजना (Solar pump subsidy) शुरूवात की गई है, जिससे किसान भाईयों की फसलों की पैदावार में सुधार के लिए सोलर पंप उपलब्ध हो सके, ताकि किसान अपनी उपज बढ़ा सकें.

यह भी पढ़े : SOLAR PANEL YOJANA : अब 15 दिन के अन्दर लगेगा सौर ऊर्जा और 30 दिनों के अन्दर अनुदान

क्या है योजना के उद्देश्य (What is Saur Sujala Scheme Objectives)

Saur Sujala Scheme का प्राथमिक उद्देश्य ऐसे सौर पंपों को उपलब्ध करना है, जो पारंपरिक पंपों की तुलना में अधिक शक्तिशाली और कुशल हो. जिससे रियायती दरों पर किसानों का सिंचाई पंपों पर खर्च का बोझ कम हो सके. इसके अलावा इस से किसान भाईयों की आय भी बढ़ सके.

सोलर पंप से होने वाले लाभ (Saur Sujala Scheme Benefits)

  1. बिजली की जरुरत नहीं :- सोलर पंप वाटरशेड क्षेत्रों के लिए अत्यधिक लाभकारी होते हैं जहां बिजली की सुविधा उपलब्ध नही होती है क्योंकि यह पम्प गर्मी के लंबे दिनों के दौरान सूरज की रोशनी की किरणों का पूरा उपयोग करती है जिससे मांग के अनुरूप गर्मी में पानी की कमी नही होने पाती है.
  2. चलाऊ और चलाने में आसान :- इस सौर पम्प की रखरखाव की अवधि 5 साल तक की है और इसमें ज्यादा ध्यान देना  पड़ता है, क्योंकि यह खुद से शुरू हो जाता है और इसके लिए मैन्युअल शुरू करने की जरुरत नहीं होती है. इसके अलावा, मौसम बदलने पर यह आसानी से पोर्टेबल हो जाता है.
  3. बचत :-  किसान भाइयों को बिजली व डीजल की लागत बचत होगी क्योंकि आने वाले समय में इसकी कीमत निश्चित नही है.
  4. पर्यावरण के लिए फायदेमंद :-  सौर पम्प से किसी भी प्रकार का प्रदूषण नही होता है. जबकि डीजल पम्प काफी प्रदूषण करते है.

छत्तीसगढ़ सौर सुजाला योजना की प्रमुख विशेषताएं (Saur Sujala Scheme Features)

छत्तीसगढ़ सौर सुजला योजना Chhattisgarh Saur Sujala Scheme के द्वारा छत्तीसगढ़ में किसानों को सौर ऊर्जा संचालित सिंचाई पंप दिए जाएंगे.जिसमें किसान अपने उपयोग के अनुसार सौर सिंचाई पंप का चुनाव कर सकते हैं, जैसे लघु किसानों के लिए 3HP पंप और सीमांत किसानों के लिए 5HP पंप उपयोगी रहेगें. छत्तीसगढ़ राज्य अक्षय ऊर्जा विकास एजेंसी (CREDA) द्वारा लाभार्थी किसानों के लिए सौर पंप उपकरण स्थापित करने और बनाए रखने के लिए पूरी जिम्मेदार रहेगी. इस योजना के तहत, सरकार 3HP और 5HP क्षमता के सौर ऊर्जा संचालित सिंचाई पंपों की कुछ रियायती दरों पर 5 लाख और 5 लाख की पेशकश कर रही है. छत्तीसगढ़ सौर सुजाला योजना के तहत किसानों के लिए कोई रियायत राशि की घोषणा नहीं की गई है. सरकार ने इस पहल को प्राथमिकता के आधार पर शुष्क क्षेत्रों और उन क्षेत्रों में शुरू करने की योजना बनाई है जहां बिजली की सुविधा नहीं है. एक अनुमान मुताबिक है कि इस सौर सिंचाई पंप योजना से लगभग 51,000 किसान लाभ मिलेगा.

सौर सुजाला योजना पर अनुदान  (Saur Sujala Scheme Subsidy)

छत्तीसगढ़ सौर सुजला योजना के तहत उनकी उपयोग क्षमता के आधार पर दो प्रकार के पंप वितरित किए जाते हैं.

3HP पंप :- इस प्रकार के पंप का उपयोग छोटे पैमाने पर खेती करने वाले किसानों द्वारा किया जाता है. ऐसे पंप रुपये की रियायती दर पर दिए जाते हैं. 3.5 लाख जिसमें अनुदान की पेशकश 7000 रुपये से 18,000 रुपये के बीच होती है.

5HP पंप :- 5HP पंप आमतौर पर बड़े पैमाने पर खेती करने वाले किसानों को शामिल किया जाता हैं. इन पंपों की आपूर्ति 4.5 लाख रुपये की रियायती दर पर की जाती है, जिसमें अनुदान 10,000 रुपये से 20,000 रुपये तक का होता है.

 योजना की पात्रता (Saur Sujala Scheme Eligibility)

  1.  इस योजना के लिए छोटे/मध्यम/बड़े पैमाने के किसान भाई आवेदन कर सकते हैं.
  2. किसान भाई छत्तीसगढ़ राज्य के स्थाई निवासी होना अनिवार्य है.
  3. किसानों की पात्रता के लिए छत्तीसगढ़ राज्य अक्षय ऊर्जा विकास एजेंसी (क्रेडा) की पूरी जिम्मेदारी होगी. इसके अलावा, यह सौर पंप की स्थापना और रखरखाव के लिए तकनीकी सहायता प्रदान करेगी.

यह भी पढ़े : TOP 5 VEGATABLE IN FABRUARY | फरवरी की पांच प्रमुख सब्जी फसलें

योजना के लिए जरुरी दस्तावेज (Saur Sujala Scheme Important Documents)

किसान भाइयों को योजना का लाभ लेने के लिए यह आवश्यक दस्तावेज उपलब्ध करने पड़ेगे. जिससे वह योजना का पूरा लाभ पा सके.

  • आधार कार्ड
  • पहचान प्रमाण
  • आवास प्रामाण पत्र
  • बैंक खाता विवरण

योजना के लिए कैसे करे आवेदन (Saur Sujala Scheme Registration)

ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन :- Chhattisgarh Saur Sujala Scheme के लिए आवेदन पत्र राज्य के तालुका/ जिले में स्थित ब्लॉक कार्यालयों और कृषि कार्यालयों में उपलब्ध है. पात्र आवेदक को आवेदन शुल्क का भुगतान करते हुए फॉर्म प्राप्त करना होगा, जिसे भरकर उसे जमा करना होगा.

ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन :- वहीं जिन पात्र किसान भाईयों को ऑनलाइन आवेदन करना है, वो www.creda.in पर रजिस्टर कर इस योजना का लाभ उठा सकते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here