आम का प्ररोह जालक कीट | Shoot webber | Mango pests

0
402
आम का प्ररोह जालक
आम का प्ररोह जालक कीट | Shoot webber

आम का प्ररोह जालक कीट | Shoot webber

नमस्कार किसान भाईयों, आम का प्ररोह जालक कीट आम की मुलायम पत्तियों को काफी नुकसान पहुंचता है. जिससे आम का पौधा प्रभावित होता है. जिससे फसल अच्छी नहीं आती है. जिससे बागवानों की आमदनी कम होती है. इसलिए गाँव किसान (Gaon Kisan) आज अपने इस लेख में आम का प्ररोह जालक कीट के बारे में पूरी जानकारी देगा. जिससे बागवान भाई अपने आम के पौधे को इसके प्रकोप से बचा सके. तो आइये जानते है आम का प्ररोह जालक कीट के बारे में पूरी जानकारी-

आम का प्ररोह जालक कीट की पहचान 

इस कीट के वयस्क मध्यम आकर के पतंगे होते है. इसके अगले पंख गहरे भूरे होते है. और इस पर बहुत गहरे रंग के शल्क पाए जाते है. मध्य के दो लहरदार धारियां और किनारे पर हल्के धब्बे होते है. पिछले पंख हल्के भूरे होते है. और इनके बाहरी किनारों पर चौड़ी पीले रंग की पट्टी होती है. पंखों की फैली अवस्था में मादा 32 से 38 मिमी० चौड़ी और नर 20 से 26 मिमी० चौड़ा होता है. इल्लियाँ गहरे भूरे रंग की होती है. इनके प्रष्ट भाग पर एक पीली धारी होती है. उदर के तीन पीले खण्डों पर काले बाल पाए जाते है.

यह भी पढ़े : आम का कलिका माइट | Mango bud mite | Mango pests

कीट पाए जाने क्षेत्र 

यह कीट भारत के लगभग सभी राज्यों में पाया जाता है. भारत के अलावा यह पाकिस्तान, श्रीलंका तथा बांग्लादेश में पाया जाता है.

आम को क्षति 

इस कीट की इल्लियाँ आम की मुलायम पत्तियों को खाकर क्षति पहुंचाती है.

अन्य परपोषी पौधे 

आम के अलावा यह कीट सेब और अनार को भी क्षति पहुंचाता है.

कीट का जीवन चक्र 

इस कीट का वैज्ञानिक नाम पोथेन्सिया सिंटिलाना (Porthesia scintillana walker) है. कीट की मादा शलभ पत्तियों की निचली सतह पर समूह में अंडे देती है. वे अंडे मादा के उदर पर पाए जाने वाले बालों से ढके रहते है. एक मादा 200 से 250 अंडे देती है. ये अंडे 6 से 10 दिन ऊष्मायन काल के बाद फट जाते है. इनसे जो इल्लियाँ निकलती है, वे मुलायम पत्तियों को खाकर 30 से 40 दिनों में 3-4 बार निर्मोचन करके पूर्ण विकसित हो जाती है. इसके बाद ये ककून बनाकर प्यूपावस्था में बदल जाती है. प्यूपा पेड़ की शाखाओं या जमीन पर पाए जाते है. इन प्यूपों से 8 से 12 दिनों में वयस्क पतंगे निकल आते है. जो अपना जीवन चक्र पुनः शुरू करते है. एक जीवन चक्र डेढ़ से दो माह में पूरा होता है.

यह भी पढ़े : आम की लाल चींटी | Red ant | Mango pests

कीट की रोकथाम

इस कीट के नियंत्रण के लिए 10 प्रतिशत बी० एच० सी० की धूल का बुरकाव करना चाहिए.

निष्कर्ष 

किसान भाईयों उम्मीद है गाँव किसान (Gaon Kisan) के इस लेख से आम का प्ररोह जालक कीट से सम्बंधित सभी जानकारियां आप सभी को मिल पायी होगी. फिर भी आम के इस से सम्बंधित आपका कोई प्रश्न हो तो कमेन्ट बॉक्स में कमेन्ट कर पूछ सकते है. इसके अलावा यह लेख आपको कैसा लगा कमेन्ट कर जरुर बताएं, महान कृपा होगी.

आप सभी का बहुत-बहुत धन्यवाद, जय हिन्द.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here