उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री का बड़ा ऐलान किसानों को मिलेगी पूरी बिजली, ट्यूबेल के नहीं काटे जाएंगे कनेक्शन

0
Chief Minister of Uttar Pradesh
ट्यूबेल के नहीं काटे जाएंगे कनेक्शन

किसानों को मिलेगी पूरी बिजली, ट्यूबेल के नहीं काटे जाएंगे कनेक्शन

देश के कुछ राज्यों में काफी कम बारिश होने के कारण किसानों को अपनी फसलों से काफी नुकसान उठाना पड़ा है. ऐसे में देश के कुछ राज्यों के मुख्यमंत्रियों द्वारा किसानों को राहत देने के लिए तरह-तरह की घोषणा की है. इसी कड़ी में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा किसानों को राहत देने के लिए ट्यूबवेल के विद्युत कनेक्शन का बकाया बिल होने के बाद भी कनेक्शन नहीं काटने और ग्रामीण इलाकों में विद्युत आपूर्ति को बढ़ाने का निर्देश दिया है.मुख्यमंत्री द्वारा शनिवार को मानसून और फसल बुवाई की समीक्षा के लिए आयोजित उच्च स्तरीय बैठक में किसानों को राहत देने के लिए कम बरसात के कारण खराब हुई फसलों की भरपाई करने की यह घोषणा की है.

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री द्वारा शनिवार को मुख्यमंत्री आवास पर आयोजित बैठक में कहा गया कि राज्य में 20 अगस्त तक कुल 284 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई है. जोकि पिछले 2 वर्षों में हुई बरसात से काफी कम है. वर्ष 2021 में 504.10 मिलीमीटर और 2020 में 520.3 एमएम की बरसात दर्ज की गई थी. इसके अलावा उन्होंने कहा कम बारिश की वजह से जो परिस्थितियां बनी है. उसके तहत किसानों को अतिरिक्त सहायता दिया जाना जरूरी है. इसीलिए बिजली का बकाया बिल होने पर भी किसानों के  केबल की बिजली कनेक्शन नहीं काटे जाएंगे. साथ ही पावर कारपोरेशन द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली की आपूर्ति बढ़ाई जाएगी.

यह भी पढ़े :  कृषि वैज्ञानिकों ने विकसित की सरसों की दो नई किस्में, किसान ले पाएंगे बंपर उत्पादन

किसानों को हर संभव मदद

मुख्यमंत्री श्री योगी जी ने कहां कि कम वर्षा के कारण राज्य में उत्पन्न हुई परिस्थितियों किसानों की हर संभव मदद की जाएगी. उनके  सभी हितों का ध्यान रखा जाएगा. साथ ही कम बारिश से जो फसलों का नुकसान हुआ है उसके लिए किसानों की पूरी मदद की जाएगी. उसके लिए उन्होंने अधिकारियों को सभी विकल्पों को शामिल करते हुए बेहतर राहत कार्य योजना तैयार करने का निर्देश भी दिया.

मुख्यमंत्री द्वारा यह भी निर्देश दिए गए, ट्यूबवेल की तकनीकी खराबी को हर हाल में 24 से 36 घंटे में ठीक किया जाए. साथ ही उन्होंने कहा जहां पर ट्यूबवेल की निर्भरता ज्यादा है. वहां पर  सौर पैनल लगाया जाना चाहिए.

बाढ़ वाले क्षेत्रों में राहत कार्यों में देरी नहीं करनी व प्रभावित परिवारों को हर संभव मदद करने का निर्देश मुख्यमंत्री द्वारा दिया गया.

सब्जी की खेती करने वाले किसानों को प्रोत्साहन

मुख्यमंत्री द्वारा कहां गया जिन क्षेत्रों में कम बारिश की वजह से धान की फसल को नुकसान पहुंचा है. वहां के किसानों को सब्जी की खेती करने के लिए प्रोत्साहन दिया जाए. इसके लिए उन्होंने तोरई की सब्जी के बीज का वितरण करने का निर्देश दिया गया. साथ ही उन्होंने अधिकारियों से यह भी कहा कि किसानों को वैकल्पिक खेती के बारे में जागरूक करें.

यह भी पढ़े : किसान भाई वनीला की खेती कर कमाए अधिक लाभ जाने, कैसे करेंगे खेती और कहां मिलेगा बीज

इन जिलों में 40 फ़ीसदी से कम बारिश

इसके अलावा मुख्यमंत्री द्वारा यह भी बताया गया कि राज्य में 33 जिले ऐसे हैं. जहां पर सामान्य से 40 से 60 फ़ीसदी वर्षा दर्ज हुई है. जबकि 19 जिलों में 40 फ़ीसदी से भी कम बारिश हुई है. इस कारण इन जिलों में खरीफ की फसलों की बुवाई ज्यादा प्रभावित हुई हैं.

800 करोड़ रुपए से ज्यादा बकाया है बिजली का बिल

पावर कारपोरेशन के मुताबिक राज्य में 13,16,399 निजी नलकूप है. जिसमें से 12 लाख 97 हजार 367 ग्रामीण अनमीटर्ड 44,755 ग्रामीण मीटर्डतथा 14,277 शाहरी मीटर्ड कनेक्शन है..इन कनेक्शनों में से लगभग 700000  उपभोक्ताओं पर 800 करोड रुपए से ज्यादा की धन राशि अभी बकाया है. 

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here