किसान भाई इस तकनीक से करें खेती, पाएंगे कम लागत में अधिक मुनाफा, उगायेंगे एक साथ चार से पांच फसलें

0
49
Multi Layer Farming
मल्टी लेयर फार्मिंग क्या है ?

मल्टी लेयर फार्मिंग क्या है ?

देश में बहुत सारे लघु और सीमांत किसानों के पास खेती करने के लिए बहुत कम भूमि होती है. ऐसे में किसानों को काफी चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है. इस तरह उन्हें खेती की फसलों से कम उपज मिल पाती है. जिसके कारण उनकी आमदनी भी कम हो जाती है.

लेकिन गांव किसान आज लघु और सीमांत किसानों को  खेती की एक ऐसी तकनीक के बारे में बताएगा जिसको अपनाने से किसान भाई खेती को काफी बेहतर बना पाएंगे जिससे  उनको कम लागत में भी अधिक मुनाफा होगा या तकनीक है  मल्टी लेयर फार्मिंग जिसे अपनाकर किसान भाई अपनी आमदनी को काशी बेहतर कर सकते हैं तो आइए जानते हैं मल्टी लेयर फार्मिंग आखिर है क्या-

यह भी पढ़े : बाजरे की फसल में लगने वाले प्रमुख कीट एवं उपज

क्या है मल्टी लेयर फार्मिंग

खेती की मल्टी लेयर फार्मिंग तकनीक से किसान भाई अपने एक खेत से चार से पांच फसलों की खेती बहुत ही आसानी से कर सकते हैं. इस तकनीक में किसान भाई सबसे पहले उस फसल को अपने खेत में लगाएं जो जमीन के अंदर उगती है. उसके उपरांत उसी भूमि में सब्जी या अन्य फूलदार पौधे भी लगा सकते हैं. इसके अलावा इन फसलों के साथ छायादार और फलदार पेड़ भी लगा सकते हैं. किसान भाई इस तकनीक को अपनाकर कम समय एक से अधिक फसलों की खेती कर कम लागत में अधिक उपज लेकर एक फायदेमंद खेती कर सकते हैं. किसान भाई मल्टी लेयर फार्मिंग में अदरक, चौलाई, पपीता, करेला, कुंदरू, के अलावा अन्य फसलों की खेती कर अधिक लाभ कमा सकते हैं.

मल्टी लेयर फार्मिंग से मिलने वाले फायदे

  • इस तकनीक से खेती करने से फसलों में कीट और रोग कम लगते हैं.
  • इसके अलावा इस तकनीक में फसलों में होने वाले खरपतवार भी कम हो जाते हैं.
  • इस तकनीक में जैविक खाद के उपयोग होने से के कारण निराई गुड़ाई  कम करनी पड़ती है. जिससे किसान को फसलों में लागत में कमी आती है.
  • इस तकनीक को अपनाने से खाद एवं उर्वरक में भी बचत होती है. क्योंकि एक फसल को खाद देने पर बाकी फसलों को अपने आप खाद मिल जाती है.
  • इस विधि को अपनाने से फसलों में लगने वाले सिंचाई के पानी की 70% तक बचत की जा सकती है.
  • किसानों को कम लागत में अधिक मुनाफा मिल जाता है.

यह भी पढ़े : Beejamrut : किसान भाई बीजामृत के उपयोग से पायेगें अधिक उपज

इस तकनीक से कम लागत में अधिक मुनाफा

कृषि विशेषज्ञों के अनुसार मल्टी लेयर फार्मिंग से किसान भाई अपनी खेती में लागत को चार गुना कम कर सकते हैं. इसके अलावा मुनाफा भी कई गुना तक ज्यादा मिलता है. साथ ही भूमि की उर्वरा शक्ति बढ़ जाती है क्योंकि किसान भाई एक साथ कई फसलों की खेती करते हैं. जिससे फसलों को एक दूसरे से पोषक तत्व प्राप्त हो जाते हैं. साथ ही पानी और खाद की भी बचत कम होती है. जिससे किसानों की लागत काफी कम लगती है. इसलिए किसानों को मल्टी लेयर फार्मिंग की तकनीक जरूर अपनानी चाहिए. 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here