अरहर की उन्नत किस्में एवं उर्वरक की मात्रा

अरहर की अगेती किस्मों में प्रभात, UPA-20,  पूसा अगेती, टाइप-21, टाइप-7,  टाइप-17, शारदा, मुक्ता, लक्ष्मी, ग्वालियर-3, खारगौन-2, एज-20, नंबर-141, बी-517 आदि प्रमुख है.

अरहर की पछेती किस्मों में बहार-1228, वसंत नंबर-1234, एन०पी०-15 आदि प्रमुख हैं.

आईसीपीएच-8 और आईसीपीएच-15 संकर किस्में इक्रीसेट से  निकाली गई है.

अरहर की नवीन विकसित किस्मों में मालवीय विकल्प दुर्गा, आजाद के 91, वमबन-1, वमबन-2 (वीसीआर-4) वमबन-3 एपीके-1, टीयस-2, आईपीयू 94-1, आशा आदि प्रमुख हैं.

अरहर में नाइट्रोजन की मात्रा 20 से 30 किग्रा, फास्फोरस  80 से 100 किग्रा तथा पोटाश 40 से 50 किग्रा प्रति हेक्टेयर  की  दर से डालते हैं

दाल वाली फसलें मुख्यता जिंक की कमी के प्रति संवेदनशील होती हैं, इसीलिए 20 से 25 किग्रा जिंक सल्फेट प्रति हेक्टेयर की दर से बुवाई के समय देते हैं

मिश्रित फसल के लिए 3 से 8 किग्रा  बीज प्रति हेक्टेयर लेना चाहिए.

अरहर की अन्य जानकारी के लिए