किसानों को लखपति बनाएगी गाय की यह तीन नस्लें, आइये जाने इनकी खासियत

0
gir gaay
गाय की तीन दुधारू नस्लें 

गाय की तीन दुधारू नस्लें 

देश के ज्यादातर किसान खेती के साथ-साथ पशुपालन करते है. जिससे डेयरी बिजनेस देश में तेजी से प्रसार कर रहा है. इस बिजनेस से किसान भाई हर महीने लाखों कम कर अच्छी आय अर्जित कर रहे है. इसे देखते हुए सरकार द्वारा भी विभिन्न योजनाओं के द्वारा किसानों की मदद की जाती है.

हालांकि, इस दूध के व्यापार को करने के लिए भी तकनीक, अनुभव और ज्ञान की जरूरत होती है. अगर आप सही जानवरों के साथ इस व्यापार को शुरू करेंगे तभी मुनाफा कमा पाएंगे, नहीं तो इसमें आप उतना पैसा नहीं बना पाएंगे. आज इस गाँव किसान के लेख में हम आपको बताएंगे कि आप किन तीन नस्ल की गायों को पाल कर महीने में मोटा मुनाफा बना सकते हैं. आपको बता दें अब गाय पालने के लिए सरकार की तरफ से भी मदद मिलती है, यानी आपको इस व्यापार शुरू करने के लिए ज्यादा पैसा भी लगाना पडेगा.

यह भी पढ़े : अगर 15 जून से पहले की धान रोपाई, तो किसानों को पड़ेगा 10 हजार का जुर्माना, जानिए किस राज्य की है यह खबर

गाय की गिर नस्ल का पालन

गिर नस्ल की गाय देश की सबसे ज्यादा दूध देनी वाली नस्ल है. इस गाय के थन काफी ज्यादा बड़े होते है. गाय की यह नस्ल गुजरात के गीर के जंगलों में पाई जाती है. लेकिन धीरे-धीरे यह देश के सभी राज्यों में फैल गयी है. और अधिकतर राज्यों के किसानों द्वारा इस नस्ल को पाला जा रहा है.

इस नस्ल गाय हर रोज औसतन 12 से 20 लीटर दूध देती है. लेकिन अगर आप इस गाय का अच्छे से ख्याल रखें तो देखा गया है कि यह गाय 50 से 60 लीटर दूध भी रोजाना दे सकती है. सोचिए अगर आप इस तरह की तीन चार गाय भी रख लें तो महीने में सिर्फ इनका दूध बेचकर कितना मुनाफा कमा सकते हैं.इस नस्ल की गाय का दूध भी काफी कीमत पर बिकता है. क्योकि इसमें काफी औषधीय गुण पाए जाते है.

गाय की लाल सिन्धी नस्ल का पालन 

गाय की यह नस्ल हल्के लाल रंग की होती है. सिंध इलाके में पाए जाने के कारण इसका नाम लाल सिन्धी गाय हो गया. देश में यह गाय हरियाणा, कर्नाटक, केरल, ओडिशा और पंजाब आदि राज्यों के किसान इस नस्ल इसका पालन करते है. इसके अलावा उत्तर प्रदेश और बिहार के कुछ स्थानों पर इस गाय का पालन किया जाता है.

लाल सिन्धी नस्ल की गाय रोजाना 15 से 20 लीटर दूध देती है. हालांकि, अगर आपने इसका अच्छे से ख्याल रखा तो यह रोजाना 40 से 50 लीटर भी दूध दे सकती है. इसलिए किसान भाई नस्ल की गाय को पालकर अपना देरी बिजनेस की शुरुवात कर सकते है.

यह भी पढ़े : राज्य की महिलाओं को 1000 रुपए की राशि, योजना के तहत पहली किस्त आज दी जाएगी

गाय की साहिवाल नस्ल का पालन

देश के किसानों के बीच साहिवाल नस्ल की गाय की काफी लोक प्रियता है. इसलिए इस गाय को उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और हरियाणा आदि राज्यों किसान ज्यादा पालते है. इस नस्ल की गाय हर रोज 10 से 15 लीटर दूध देती है, लेकिन अगर आप इस गाय का अच्छे से ख्याल रखेंगे तो यह आपको रोजाना 30 से 40  लीटर भी दूध दे सकती है.

इस गाय की सबसे अच्छी बात ये होती है कि इसे कम जगह में भी रखा जा सकता है और इसका ज्यादा ख्याल रखने की भी जरूरत नहीं पड़ती. इसलिए किसान भाई इस नस्ल की गाय को पालकर अपने दूध के व्यापार को शुरू कर सकते है.

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here