यूपी के कृषि मंत्री का बड़ा बयान, इन किसान को नही मिलेगी पीएम किसान सम्मान निधि, योजना का लाभ लेने के लिए क्या करना होगा

0
PM Kisan Samman Nidhi
इन किसान को नही मिलेगी पीएम किसान सम्मान निधि

इन किसान को नही मिलेगी पीएम किसान सम्मान निधि

देश के सभी किसानों को प्रधानमन्त्री सम्मान निधि योजना का लाभ दिया जा रहा है. लेकिन अब योजना को लेकर उत्तर प्रदेश के किसानों के लिए एक बड़ा अपडेट आया है.

इस अपडेट के मुताबिक उत्तर प्रदेश के उन किसान को पीएम किसान योजना का लाभ नही मिलेगा, जिन किसानों ने ई-केवाईसी नही कराई है. उन किसानों को पीएम सम्मान निधि का फायदा नही मिलेगा. अभी तक उत्तर प्रदेश राज्य के एक करोड़ 66 लाख किसानों ने ई-केवाईसी करवा ली है.

योजना में नए पात्र किसान जोड़े जायेगें

शुक्रवार को राज्य की राजधानी लखनऊ में उत्तर प्रदेश के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा पीएम किसान सम्मान निधि योजना के सभी लाभार्थी किसानों के आधार को लिंक किया जा रहा है. इसके साथ योजना का सोशल आडिट भी करवाया जा रहा है. इससे अपात्र, आयकर दाता, मृतक किसानों की जानकारी सामने आ रही है. इसके अलावा योजना में राज्य के नये पात्र किसानों को भी जोड़ा जा रहा है.

यह भी पढ़े : गन्ने की फसल के साथ लगाएं ये 5 फसलें, कम वक्त में तैयार होकर देती है ज्यादा मुनाफा

प्राकृतिक खेती को बढ़ावा देने के लिए होगा यह काम

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कृषि मंत्री ने अपने कृषि विभाग के 100 दिनों के कामकाज और उपलब्धियों के बारे में जानकारी दी. इसके अलावा उन्होंने कहा कि प्राकृतिक खेती को बढ़ावा देने के लिए क्लस्टर बनाए जायेगें. 710 हेक्टेयर क्षेत्रफल में 1700 क्लस्टर बनाये जायेगें. इसके साथ ही गंगा के दोनों किनारों के पांच-पांच किलोमीटर के दायरे में प्राकृतिक खेती की जायेगी.

यह भी पढ़े : गन्ने की फसल के साथ लगाएं ये 5 फसलें, कम वक्त में तैयार होकर देती है ज्यादा मुनाफा

दस हजार किसानों को सोलर पम्प व कृषि विश्वविद्यालयों का निर्माण

इसके अलावा कृषि मंत्री ने बताया कृषि विभाग के 133 फार्म हाउस, पांच कृषि विश्वविद्यालयों तथा 89 कृषि विज्ञान केन्द्रों को गो आधारित प्राकृतिक खेती के मॉडल तैयार करने के भी निर्देश दिए गये है. साथ ही सोलर पम्प वितरण के लिए दस हजार किसानों का चयन भी किया गया है. इस प्रेसवार्ता में कृषि राज्य मंत्री बलदेव सिंह औलख, अपर मुख्य सचिव कृषि डा.देवेश चतुर्वेदी, कृषि निदेशक विवेक सिंह, संयुक्त कृषि निदेशक प्रसार आर.के.सिंह मौजूद थे.

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here