अब सोयाबीन बीज उत्पादक किसान पायेगें 1000 रुपये प्रति कुंटल की प्रीमियम राशि

0
73
soybean seed
सोयाबीन बीज उत्पादन पर प्रीमियम राशि

सोयाबीन बीज उत्पादन पर प्रीमियम राशि 

सरकार द्वारा देश के किसानों को अच्छी गुणवत्ता के बीज मिल सके, इसके लिए समय-समय पर विभिन्न बीज उत्पादन कार्यक्रम चलाए जा रहे है. इसके तहत सरकार द्वारा किसानों को गुणवत्ता युक्त प्रमाणित बीज उत्पादन पर प्रोत्साहन राशि या अनुदान दिया जा रहा है. इसी कड़ी में राजस्थान सरकार द्वारा किसानों को सोयाबीन बीज उत्पादन पर सरकार द्वारा चलाए जा रहे सोयाबीज बीज उत्पादन कार्यक्रम में 500 रुपये प्रीमियम की वृध्दि कर दी है.

राजस्थान सरकार द्वारा सोयाबीन की फसल के बीजोत्पादन कार्यक्रम पर किसानों को देय प्रीमियम की राशि 500 रुपये प्रति कुंतल से बढ़ाकर 1000 रुपये प्रति कुंतल कर दी है. अब सोयाबीन उत्पादक किसानों को एम० एस० पी० पर 1,000 रुपये प्रति कुंतल अतिरिक्त मिलेगें.

इन लोगो को दिए जायेगें लाइसेंस

राज्य के किसानों को आसानी से बीज उपलब्ध कराने के लिए गाँव-गाँव दाढ़ी-दाढ़ी में स्थित के०वी०एस०एस० तथा जी०एस०एस० को बीज लाइसेंस दिलवाकर बीज निगम के अधिकृत डीलर बनाने का अभियान चालू किया गया है. इसके अलावा निजी क्षेत्र के बीज विक्रेता को भी निगम अधिकृत विक्रेता को भी बीज निगम के अधिकृत विक्रेता बनाये जाने की प्रक्रिया चल रही है. इसकी जानकारी राजस्थान स्टेट सीड्स कॉरपोरेशन लिमिटेड के अध्यक्ष श्री धीरज गुर्जर ने दी है.

यह भी पढ़े: Mahogany Cultivation | महोगनी की खेती | Mahogany tree farming

इतने हजार कुंतल बीज का किया जाएगा उत्पादन

श्री गुर्जर द्वारा यह जानकारी भी दी गयी कि निगम द्वारा पहली बार अनुबंध आधारित नीति के तहत राज्य एवं राज्य से बाहर की संस्थाओं के लिए भी बीजोत्पादन कर बीज विक्रय किया जाएगा. साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि पहली बार राज्य के किसानों के साथ-साथ राज्य के बाहर की बीजोत्पादक संस्थाओं के साथ एम०ओ०यू० के आधार पर सोयाबीन फसल का प्रमाणित बीज का इसी तर्ज पर 30 हजार कुंतल प्रमाणित बीज उत्पादन किया जाएगा.

मंडियों में मिलेगें प्रमाणित बीज

बीज विपणन को बढ़ावा देने के लिए निजी क्षेत्र के बीज विक्रेताओं को निगम का अधिकृत विक्रेता बनाया जा रहा है. इसके लिए व्यापार के आधार पर स्लेब आधारित व्यापारिक छूट की नीति लागू की जायेगी, जिसके अन्तर्गत जो डीलर अधिक बीज बेचेगा उसे अधिक प्रोत्साहन राशि दी जाएगी. बीज विपणन के सुदृढीकरण हेतु राज्य की कृषि उपज मण्डियों में 144 भू-खण्ड़ों पर निगम के रिटेल आउटलेट चरणबद्ध रूप से निर्मित किया जायेगा. इससे किसान एक ही स्थान पर अपनी फसलों के बेचने के साथ ही अपने लिए उत्तम गुणवत्ता के बीज भी खरीद सकेंगे.

यह भी पढ़े : Bee Keeping | मधुमक्खी पालन पर पाए 80 हजार का अनुदान, और कमाए लाखों

अच्छी गुणवत्ता के लिए बीजों का परीक्षण होगा

बीजों की गुणवत्ता को उच्चतम स्तर पर बनाये रखने के लिए विशेष प्रयास किये जा रहा है. प्रमाणित बीजों की आनुवांशिक शुद्धता परीक्षण करने के लिए निगम द्वारा स्वयं के स्तर पर प्रयास किये जा रहा है. इसके लिए खरीफ एवं रबी फसलों के बीजों में जी.ओ.टी. परीक्षण किया जा रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here