Pm vishwakarma yojana kya hai : ग्रामीण कामगारों को मिलेगा 1 से लेकर 2 लाख तक का ऋण,वह भी कम ब्याज दरों पर,कैसे करे आवेदन 

0
Pm vishwakarma yojana kya hai
ग्रामीण कामगारों को मिलेगा 1 से लेकर 2 लाख तक का ऋण

Pm vishwakarma yojana kya hai | ग्रामीण कामगारों को मिलेगा 1 से लेकर 2 लाख तक का ऋण

Pm vishwakarma yojana kya hai : देश की केंद्र सरकार द्वारा लगातार यह प्रयास किया जा है. कि देश के ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार उपलब्ध हो सके. इसके लिए सरकार द्वारा समय-समय पर ग्रामीण क्षेत्रों के लिए नई-नई योजनायें लायी जाती है. इसी कड़ी में केंद्र सरकार द्वारा ग्रामीण इलाकों में रह रहे कामगारों के लिए एक खास योजना शुरू करने की मंजूरी दी है. जिसका नाम पीएम विश्वकर्मा योजना (PM Vishwakarma yojana) है. इस योजना के अंतर्गत वे व्यक्ति जो गुरु-शिष्य परंपरा के तहत कार्यों को करके अपना गुजर-बसर करते हैं. उन्ही व्यक्तियों इस योजना का लाभ दिया जाता है.

प्रधानमंत्री विश्वकर्मा के तहत कामगार को नई स्किल्स सीखने, नए टूल्स खरीदने और  अपने व्यवसाय को बढ़ाने के लिए क्रेडिट सपोर्ट दिया जाएगा. इसके लिए प्रत्येक पात्र कामगार को इस योजना के अंतर्गत पहले चरण में 1 लाख तक का लोन और दूसरे चरण में 2 लाख तक का लोन दिया जाएगा. वह भी सस्ती ब्याज दरों पर मिलेगा. इससे कामगार अपने व्यवसाय को आगे बढ़कर अच्छा लाभ कमा पायेगें. तो आइये विस्तार से जाने पीएम विश्वकर्मा योजना क्या है ?, इस योजना से क्या लाभ होगा, विश्वकर्मा योजना के तहत लोन लेने पर कितना ब्याज लगेगा, इसके लिए कैसे आवेदन करना होगा एवं आवेदन के लिए किन दस्तावेजों की जरुरत होती है, की पूरी जानकारी –

पीएम विश्वकर्मा योजना क्या है (Pm vishwakarma yojana kya hai)

श्री नरेंद्र मोदी द्वारा स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लाल किले से अपने संबोधन के दौरान  विश्वकर्मा जयंती (Vishwakarma Jayanti) पर पीएम विश्वकर्मा योजना (PM Vishwakarma Yojana) के शुरू संकेत दिए है. इसलिए इस योजना की शुरुवात 17 सितंबर को विश्वकर्मा की जयंती (Vishwakarma Jayanti) के मौके पर की जाएगी.

केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव ने बुधवार को कैबिनेट के फैसलों पर ब्रीफिंग के दौरान कहा यह योजना छोटे-छोटे कस्बों में अनेक वर्ग के ऐसे लोगों के लिए शुरू की जाएगी जो गुरु-शिष्य परंपरा के तहत कौशल से जुड़े कामों में लगे हुए हैं. इसमें कुम्हार, लुहार, नाई, फूलों का काम करने वाले, राज मिस्त्री, मछली का जाल बुनने वाले आदि लोग शामिल किया जायेगा. केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव के अनुसार इस योजना से 30 लाख परिवारों की वित्तीय स्थिति में बड़ा परिवर्तन आएगा. इस योजना के तहत उदार शर्तों पर 1 लाख रुपए तक का ऋण उपलब्ध कराया जाएगा. उन्होंने कहा कि इस योजना के तहत ट्रेनिंग के दौरान कामगार को 500 रुपये प्रतिदिन और टूल्स, मशीन खरीदने के लिए 15,000 रुपये की मदद भी दी जाएगी.

यह भी पढ़े : Weather conditions in these districts : देश के इन जिलों में हो सकती है 18 से 21 अगस्त तक भारी बारिश, अलर्ट जारी

पीएम विश्वकर्मा योजना के फायदे 

इस योजना शुरू होने से परंपरागत कार्यों में लगे लोगों को काफी बड़ा फायदा मिलेगा. वह अपने व्यसाय को बड़ा बनाने के लिए आसानी से लोन प्राप्त कर सकेगे. पीएम विश्वकर्मा योजना से मिलने वाले फायदे निम्नवत है –

  • इस योजना का फायदा छोटे-छोटे कस्बों में रह रहे परंपरागत कार्य करने वाले कामगारों को मिलगा.
  • इस योजना से इन व्यक्तियों को आसानी से कम ब्याज पर बैंक से लोन मिल पायेगा.
  • इस योजना के द्वारा मिलने वाली आर्थिक सहायता से उन्हें अपने काम में आसानी मिल सकेगी.
  • इस योजना के अंतर्गत इस बात पर ध्यान दिया जाएगा कि कैसे इन कामगारों के अधिक कौशल विकास हो और उन्हें नए उपकरणों व डिजाइन की जानकारी उन्हें आसानी से मिल सके.
  • इस योजना के अंतर्गत उन्हें उपकरणों की खरीद में भी मदद मिल सकेगी.
  • इस योजना के अंतर्गत प्रशिक्षणार्थियों को कोर्स पूरा करने पर उन्हें पीएम विश्वकर्मा प्रमाण-पत्र या पहचान पत्र प्रदान कर मान्यता भी मिल पायेगी.
  •  इस योजना के अंतर्गत लाभार्थियों को बाजार में पहुंच प्रदान करने में सुविधा मिल पायेगी.
  • इस योजना के तहत 1 परिवार से 1 व्यक्ति को यह सहायता दी जाएगी.

पीएम विश्वकर्मा योजना के लिए पात्र व्यक्ति 

इस योजना के अंतर्गत देश के हुनरमंद कामगारों को शामिल किया जाएगा. जो इस अपने काम को कई पीढ़ियों से करते आ रहे है. इसमें नाई, धोबी, सुनार, लुहार, खाती, बढ़ई, कुम्हार, मछली का जाल बनाने वाला, चमड़े का समान बनाने वाला, मूर्तिकार, फूलों का काम करने वाला आदि कामगारों को शामिल किया गया है. पीएम विश्वकर्मा योजना का सबसे ज्यादा फायदा अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, पिछड़ा वर्ग, महिलाएं और कमजोर वर्ग को दिया जायेगा.

2 लाख तक के लोन (Loan) का प्राविधान

इस योजना के अंतर्गत पात्र कामगारों को एक लाख रूपये से लेकर 2 लाख रूपये तक के लोन का प्राविधान है. जिसको दो चरणों में दिया जायेगा. इसके अलावा काम के आधार पर भी लोन दिया जायेगा. छोटे कामगारों को पहले 1 लाख और बड़े कामगारों का 2 लाख रूपये की लोन मदद का प्राविधान है. वही यह राशि कामगारों कार्य पर भी निर्भर करती है. पीएम विश्वकर्मा योजना पहले चरण में एक लाख रूपये एवं जब कार्य को कामगार द्वारा व्यवस्थित कर लिया जायेगा तो दूसरे चरण में 2 लाख रूपये का लोन बैंक द्वारा कामगार व्यक्ति को दिया जायेगा.

लोन पर योजना के अंतर्गत इतना लगेगा ब्याज (Inteest of the Loan)

बैंकों द्वारा लिया गया ऋण पर काफी अधिक ब्याज लिया जाता है. लेकिन इस योजना के अंतर्गत कामगारों को ऋण लेने पर ब्याद दर काफी कम हो जाएगी. पीएम विश्वकर्मा योजना के तहत लिया गया लोन पर केवल 5 प्रतिशत वार्षिक ब्याज लिया जाएगा. सरकार की तरफ से की गयी घोषणा के अनुसार यह योजना पांच वर्ष तक ( 2023-24 से लेकर 2027-28) संचालित की जाएगी. जिस पर सरकार द्वारा लगभग 13 हजार करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे.

योजना के अंतर्गत कामगारों के लिए कोर्स

  • इस योजना में कामगारों के लिए दो कार्यक्रम या कोर्स का सञ्चालन किया जायेगा. जिसमें पहला बेसिक होगा. वही दूसरा एडवांस लेवल का होगा.
  •  पीएम विश्वकर्मा योजना के अंतर्गत जो बेसिक कोसर होगा उसमें कामगारों के काम से सम्बंधित प्रशिक्षण कराया जायेगा. वही दूसरे एडवांस लेबल के कोर्स में काम से सम्बंधित नई डिजाइन व तकनीक अथवा उपकरणों की जानकरी दी जाएगी. प्रशिक्षण के दौरान कामगार को 500 रूपये के भत्ते का प्राविधान योजना में किया गया है. इसके अलावा योजना के अंतर्गत कामगारों को आधुनिक उपकरण खरीदने के लिए 15,000 रुपए की आर्थिक मदद भी प्रदान की जाएगी.

यह भी पढ़े : Dairy farm subsidy in india : किसानों को डेयरी फार्म खोलने पर 75 प्रतिशत तक का अनुदान, आइये जाने कैसे करे आवेदन ?

योजना के लिए ऋण लेने के आवेदन हेतु आवश्यक कागजात

पीएम विश्वकर्मा योजना के अंतर्गत बैंक लोन लेने के लिए पात्र कामगारों को कुछ दस्तावेजों (Documents) की जरुरत पड़ेगी जिनमें से प्रमुख कागजात निम्न हैं-

  • पात्र आवेदक का आधार कार्ड
  • आवेदक कामगार का पैन कार्ड
  • आयु प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • आवेदक कामगार का निवास प्रमाण पत्र
  • बैंक खाते का विवरण एवं आवेदक ककी पासबुक की फोटोकॉपी
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर

पीएम विश्वकर्मा योजना के लिए कैसे करें आवेदन (How to apply for PM Vishwakarma Yojana)

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट 2023 में पीएम विश्वकर्मा योजना की घोषणा की गई थी. लेकिन प्रधानमंत्री द्वारा 15 अगस्त को लाल किले के अपने भाषण में 13 हजार करोड़ रुपए की राशि इस योजना के लिए आवंटन की घोषणा की थी. इस योजना लाभ पाने के लिए गांवों के कॉमन सर्विस सेंटर में पंजीकरण होगा और 3 स्तरों के बाद फाइनल चयन होगा.वही विश्वकर्मा योजना में राज्य सरकारें मदद करेंगी, लेकिन सारा खर्च केंद्र सरकार उठाएगी. लेकिन अभी इस योजना में आवेदन से संबंधित आधिकारिक रूप से कोई जानकारी नहीं मिल पाई है. अभी तक इसकी आफिशियल वेबसाइट भी लांन्च नहीं की गई है.जब भी जानकरी होगी इसकी जानकारी आपको तुरंत दी जाएगी.

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here