खरीफ फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य में भारी वृद्धि, सरकार ने बढ़ाया इन फसलों का मूल्य

0
Minimum Support Price 2023-24
न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) 2023-24 

धान से लेकर मक्का तक का न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) 2023-24 

देश के किसान को उनकी फसलों की उपज सही कीमत मिल सके, इसके लिए सरकार द्वारा हर साल रबी और खरीफ के सीजन में न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) पर फसलों की उपज की खरीदी की जाती है. इसके लिए सरकार द्वारा हर साल पहले से इन मूल्यों (MSP) की घोषणा कर दी जाती है. यह इस लिए किया जाता है. जिससे किसान भाई अपनी फसलों की बुवाई से पहले बोने वाली फसल का मूल्य की जानकारी हो. उसी के के अनुसार वह अपनी खेती की फसल का चुनाव कर सके. इसलिए देश केंद्र सरकार द्वारा माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति (सीसीईए) ने विपणन सत्र 2023-24 के दौरान सभी स्वीकृत खरीफ फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) में बढ़ोतरी को मंजूरी दे दी है.

मोदी सरकार द्वारा किसानों को उनकी उपज के लिए लाभकारी मूल्य सुनिश्चित करने और फसलों में विविधीकरण को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से विपणन सत्र 2023-24 हेतु खरीफ फसलों के एमएसपी में वृद्धि की है. वही इन फसलों में सर्वाधिक वृद्धि तिल की फसल में एवं न्यूनतम वृद्धि मक्का में की गई है. लागत से अधिक लाभ वाली फसल में बाजरा के भाव सबसे अधिक है.

यह भी पढ़े : अनुदान पर उपलब्ध कराया जायेगा पशु आहार बीज एवं पौष्टिक आहार, पशुपालकों को होगा फायदा

साल 2023-24 की खरीफ फसलों का जारी न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP)

सरकार द्वारा साल 2023-24 के लिए निम्न न्यूनतम समर्थन मूल्य (Minimum Support Price) घोषित किया है. जिसमें किसानों को उनकी फसलों का उचित मूल्य मिल सके. इसके लिए वृध्दि भी की गयी है.

फसल का नाम  न्यूनतम समर्थन मूल्य 2023-24 (MSP) मूल्यों में की गयी बढ़ोत्तरी 
धान (सामान्य) 2183 रुपए प्रति क्विंटल

143 रुपए

धान (ग्रेड ए)

2203 रुपए प्रति क्विंटल

143 रुपए

ज्वार (हाइब्रिड)

3180 रुपए प्रति क्विंटल

210 रुपए

ज्वार (मालदंडी)

3225 रुपए प्रति क्विंटल

235 रुपए

बाजरा  2500 रुपए प्रति क्विंटल 150 रुपए
रागी  3846 रुपए प्रति क्विंटल 268 रुपए
मक्का  2090 रुपए प्रति क्विंटल 128 रुपए 
तूर (अरहर) 7000 रुपए प्रति क्विंटल 400 रुपए
मूंग  8558 रुपए प्रति क्विंटल 803 रुपए
उड़द  6950 रुपए प्रति क्विंटल 350 रुपए
मूँगफली 6377 रुपए प्रति क्विंटल 527 रुपए 
सूरजमुखी बीज  6760 रुपए प्रति क्विंटल 360 रुपए
सोयाबीन (पीला) 4600 रुपए प्रति क्विंटल 300 रुपए
तिल  8635 रुपए प्रति क्विंटल 805 रुपए 
रामतिल  7734 रुपए प्रति क्विंटल 447 रुपए 
कपास (मध्यम रेशा)  6620 रुपए प्रति क्विंटल 540 रुपए 
कपास (लम्बा रेशा) 7020 रुपए प्रति क्विंटल 640 रुपये

इस वर्ष एमएसपी में सबसे बड़ी बढ़ोतरी

खरीफ फसलों की एमएसपी में की गई बढ़ोतरी को लेकर केंद्रीय वाणिज्य, खाद्य और उपभोक्ता मामलों के मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि पिछले कई सालों में इस वर्ष एमएसपी में सबसे बड़ी बढ़ोतरी की गई है. लागत से 50 प्रतिशत ज्यादा एमएसपी बढ़ाने का सरकार ने फैसला किया था और उसी के अनुसार एमएसपी में वृद्धि की गई.

यह भी पढ़े : Gharauni Yojana के तहत ग्रामीणों को मकान का स्वामित्व पत्र मिलेगा डिजिटल सिस्टम से

फसलों पर लागत का 1.5 गुना मूल्य

सरकार की तरफ से एक बयान में कहा गया कि उसने किसानों को उनकी उपज के लिए लाभकारी मूल्य सुनिश्चित करने और फसल विविधीकरण को प्रोत्साहित करने के लिए वर्ष 2023-24 के लिए खरीफ फसलों के एमएसपी में वृद्धि की है. बयान के मुताबिक, एमएसपी में वृद्धि केंद्रीय बजट 2018-19 में अखिल भारतीय भारित औसत उत्पादन लागत के कम से कम 1.5 गुना के स्तर पर एमएसपी तय करने की घोषणा के अनुरूप है, जिसका उद्देश्य किसानों के लिए यथोचित उचित पारिश्रमिक देना है.

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here