राज्य सरकार के बजट में पशुपालन की उद्यमिता विकास के लिए शुरू होगी नई योजना 

0
Haryana Budget 2023
पशुधन मिशन योजना 

राज्य सरकार द्वारा शुरू की जायेगी पशुधन मिशन योजना 

हरियाणा राज्य के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर द्वारा 23 फरवरी के दिन विधानसभा में वित्त वर्ष 2023-24 के लिए राज्य का बजट पेश किया गया. जिसमें राज्य सरकार द्वारा कृषि, बागवानी, पशु पालन, मछली पालन एवं सहकारिता क्षेत्र में 8,316 करोड़ रुपए के आवंटन का प्रस्ताव रखा गया है. जो कि पिछले वित्त वर्ष अनुमानों से 19 प्रतिशत अधिक है. जिसमें राज्य सरकार द्वारा पशुपालन,डेयरी और मत्स्य पालन के विकास के लिए कई नई योजनाओं की शुरुवात करने की घोषणा की गयी है. 

वित्त वर्ष 2023-24 में राज्य सरकार द्वारा पशुपालन के क्षेत्र में उद्यमिता विकास के लिए एक नई योजना हरियाणा पशुधन उत्थान मिशन योजना की शुरुवात करने की घोषणा की गयी है. इसके अतरिक्त राज्य सरकार द्वारा गौवंश की सुरक्षा के लिए गौ सेवा आयोग के बजट में बढ़ोत्तरी के अलावा पशु चिकित्सा सेवा के लिए मोबाइल पशु चिकित्सा इकाई आदि की घोषणा भी इस बजट में की गई है.

यह भी पढ़े : GULAB KI KHETI : गुलाब की खेती कब और कैसे करें ? जिससे हो सके किसानों को अधिक मुनाफा

पशुधन उत्थान मिशन योजना की शुरुवात करगी सरकार 

राज्य के मुख्यमंत्री द्वारा बजट पेश करते हुए घोषणा की गयी कि सरकार पशुपालन क्षेत्र में उद्यमिता विकास के लिए एक योजना हरियाणा पशुधन उत्थान मिशन योजना की शुरुवात की जाएगी. जिसकों हरियाणा पशुधन विकास बोर्ड द्वारा चलाया जायेगा. इस मिशन योजना में श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय और लाला लाजपत राय पशु चिकित्सा एवं पशु विज्ञान विश्वविद्यालय के साथ मिलाकर प्रशिक्षण प्रदान करेगा और पशु पालन को एक व्यवसाय के रूप में अपनाने के इच्छुक युवा उद्यमियों को सहायता प्रदान करेगा, चाहे मवेशी पालन, भैंस, भेड़, बकरी और सूअर पालन हो.

पशुओं को घर पर ही मिले पायेगी चिकित्सा सेवायें 

सरकर द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों के पशुपालकों के लिए पशुओं के बीमार होने पर उनके पशुओं को घर पर चिकित्सा सेवायें देने के लिए 70 मोबाइल पशु चिकित्सा इकाइयाँ उपलब्ध करायी जाएगी. इसके अलावा इन सेवाओ के नियंत्रण के लिए एक कॉल सेंटर की भी स्थापना की जाएगी. जिससे ग्रामीण क्षेत्रों में मोबाइल पशु चिकित्सा इकाइयों द्वारा प्रदान की जाने वाली सेवाओं का लाभ पशुपालकों को बेहतर ढंग से मिल सके.

इसके अलावा राज्य सरकार द्वारा पशुओं को उन्नत पशु चिकित्सा देखभाल और उपचार प्रदान करने के लिए 4 अतिरिक्त पशु चिकित्सा पॉलीक्लिनिक के निर्माण का भी प्रस्ताव गया रखा है. ये पशु चिकित्सा पॉलीक्लिनिक राज्य के पलवल, फतेहाबाद, महेंद्रगढ़ और अंबाला में स्थापित किये जायेगें.साथ ही पालतू जानवरों को उन्नत नैदानिक और उपचार सेवाएँ प्रदान करने के लिए गुरुग्राम और फ़रीदाबाद में दो अत्याधुनिक Veterinary Pet Clinics को भी स्थापित किया जाएगा.

यह भी पढ़े : आइये जाने गेहूं का पिथियम मूल विगलन रोग से फसल को कैसे बचाएं किसान भाई 

गोबरधन योजना से जोड़ी जाएगी गौशालाएं 

बेसहारा पशुओं को रखने वाली गौशालाओं को उचित रूप से वित्तीय सहायता देने के लिए राज्य सरकार ने गौ सेवा आयोग के लिए वर्ष 2023-24 के लिए बजट 40 करोड़ रुपए से बढ़ाकर 400 करोड़ रुपए करने का प्रस्ताव रखा है. हरियाणा गौ सेवा आयोग के लिए ग्राम पंचायतों की सहमति से ग्राम पंचायत भूमि उपलब्ध कराई जाएगी. गौशलाओं को गोबरधन योजना से जोड़ा जाएगा, जिसके तहत हर ज़िले में बायोगैस प्लांट बनाए जाने प्रस्तावित है.भिवानी ज़िले के सिवनी खंड की गढ़वा ग्राम पंचायत द्वारा उपलब्ध करवाई गई भूमि पर खारा प्रभावित क्षेत्रों के सुधार के लिए एकीकृत एक्वा पार्क सेंटर आफ एक्सीलेंस स्थापित किया जा रहा है.

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here