सरकार देगी छत पर बागवानी योजना के अंतर्गत 50,000 ₹ इकाई लागत पर 50 प्रतिशत का अनुदान 

0
33
roof top gardening plan
बागवानी योजना के अंतर्गत अनुदान 

सरकार देगी छत पर बागवानी योजना के अंतर्गत अनुदान 

देश में आज खेती किसानी के और तरीकों में काफी बदलाव आ रहा है. आज केवल गांव के किसान खेती नहीं करते बल्कि शहरों में भी लोग जैविक फल,सब्जियों और औषधीय पौधों को अपनी छत पर खेती कर बढ़िया उत्पादन कर रहे हैं.

छत पर बागवानी करने के लिए सरकार द्वारा बढ़ावा दिया जा रहा है. इसी कड़ी में बिहार राज्य के शहरों में छत पर बागवानी के लिए सरकार द्वारा योजना चलाई जा रही है.इस योजना के अंतर्गत जिन शहरों का चयन किया जाएगा. वहां के लोग अपनी छतों पर फल, फूल, सब्जी और औषधीय पौधे लगाने के लिए अनुदान पा सकेंगे. इस अनुदान का लाभ लेने के लिए इच्छुक व्यक्ति को ऑनलाइन आवेदन करना होगा.

यह भी पढ़े : बकरी की बीटल नस्ल किसानों को करेगी मालामाल, आइए जाने कैसे करेंगे बीटल नस्ल की पहचान ?

26 अक्टूबर से शुरू होगा ऑनलाइन आवेदन

बिहार सरकार द्वारा इस योजना को सबसे पहले पटना, गया, भागलपुर एवं मुजफ्फरपुर के शहरी क्षेत्रों में शुरू किया  जाना था. लेकिन अब इसे केवल पटना जिले में ही शुरू किया जाएगा. छत पर बागवानी योजना (roof top gardening plan) अब केवल पटना के पटना सदर दानापुर, फुलवारी एवं समपत्चक प्रखंडों के व्यक्तियों को लाभ मिल पाएगा. इच्छुक व्यक्ति योजना का लाभ लेने के लिए 26 अक्टूबर 2022 से ऑनलाइन आवेदन कर अनुदान पा सकेंगे.

छत पर बागवानी के लिए इन पौधों पर दिया जाएगा अनुदान

बिहार सरकार द्वारा छत पर बागवानी करने के लिए लाभार्थी व्यक्ति को निम्न पौधे लगाने पर अनुदान दिया जाएगा-

  • सब्जी के पौधों में बैंगन, टमाटर, मिर्च, गोभी, गाजर, मूली, भिंडी, पत्तेदार सब्जी, कद्दू वर्गीय सब्जी इत्यादि लगाने पर अनुदान दिया जाएगा.
  • फल के पौधों में अमरूद, कागजी नींबू, पपीता रेड लेडी, आम आम्रपाली, अनार, अंजीर इत्यादि लगाने पर लाभार्थी व्यक्ति को अनुदान मिलेगा.
  • वही औषधीय पौधों में घृत कुमारी, करी पत्ता, वासका, लेमनग्रास एवं अश्वगंधा इत्यादि लगाने पर अनुदान मिल सकेगा.

₹50000 पर योजना के अंतर्गत 50% का अनुदान

इस योजना के अंतर्गत जिन व्यक्तियों के पास शहर में अपना घर जा फ्लैट हो अथवा शैक्षणिक संस्थान जिसकी छत 300 वर्ग फीट की हो. उसे इस योजना का लाभ मिल पाएगा.

इस योजना के अंतर्गत प्रति इकाई 300 वर्ग फिट का इकाई लागत ₹50000 निर्धारित की गई है.जिसमें से लाभार्थी वित्त को 50% अनुदान अर्थात ₹25000 का अनुदान लाभ दिया जाएगा. शेष ₹25000 लाभार्थी व्यक्ति को स्वयं खर्च करना होगा. इसमें लाभार्थी व्यक्ति को छत पर बागवानी का रखरखाव स्वयं करना अनिवार्य होगा.

छत पर बागवानी योजना के लिए पात्रता

छत पर बागवानी योजना (roof top gardening plan) का लाभ केवल अभी राज्य के पटना शहरी क्षेत्र के व्यक्तियों को मिल पाएगा. इसके लिए लाभार्थी व्यक्ति का अपना घर हो अथवा अपार्टमेंट में फ्लैट हो अथवा सेंचुरी संस्थान या किसी अन्य तरह के अन्य संस्थान जिसकी छत पर 300 वर्ग फुट की जगह हो, इस योजना का लाभ ले सकता है.

इसके अलावा लाभार्थी व्यक्ति के मकान की स्थित छत पर 300 स्क्वायर फिट खाली स्थल जो किसी भी हस्तक्षेप से स्वतंत्र हो तथा अपार्टमेंट की स्थिति में अपार्टमेंट की पंजी तो सोसाइटी से अनापत्ति प्रमाण पत्र होना आवेदन के लिए जरूरी है.

पटना शहर के सभी वर्गों के लिए छत पर बागवानी योजना का लाभ दिया जाएगा. इसके बावजूद भी योजना में कुछ वर्गों को प्राथमिकता मिलेगी. चयन हेतु जिला के लक्ष्य अंतर्गत 16% अनुसूचित जाति था 1% अनुसूचित जनजाति की भागीदारी की योजना के लिए सुनिश्चित की गई है. इसके अलावा कुल भागीदारी में 30% महिलाओं को प्राथमिकता मिलेगी.

यह भी पढ़े : दिवाली के बाद भी किसानों के खाते में आ सकते हैं ₹2000 जानिए पूरी खबर क्या है?

योजना का लाभ लेने के लिए कैसे करें आवेदन

पटना के शहरी क्षेत्रों के जो भी व्यक्ति छत पर बागवानी योजना का लाभ लेना चाहते हैं. उन्हें बिहार की उद्यान निदेशालय  की आधिकारिक वेबसाइट horticulture.bihar.gov.in पर जाएं. वहां पर रूफटॉप गार्डन इन लिंक पर जाकर अपना आवेदन फार्म ऑनलाइन कर सकते हैं.

आवेदन करने के पश्चात प्राप्त रसीद पर लागू को अपने  अंश की ₹25000 प्रति इकाई जमा करने हेतु बैंक खाता संख्या एवं विस्तृत विवरण प्राप्त होगा. संबंधित खाता संख्या में लाभुक अंश की राशि जमा होने के पश्चात ही आगे की कार्रवाई हो सकेगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here