FARMING IN APRIL : अप्रैल महीने में इन फसलों करे बुवाई, उपज से मिलेगा अच्छा मुनाफा

0
1812
farming in april
इन फसलों की बुवाई का उचित समय 

FARMING IN APRIL | इन फसलों की बुवाई का उचित समय 

अप्रैल का महीना कृषि (FARMING IN APRIL) कार्यों के लिए काफी महत्वपूर्ण होता है. इस महीने गेहूं की कटाई का कार्य प्रारम्भ हो जाता है. इसके अलावा जिन किसान भाइयों ले खेत खाली हो गए है वह जायद फसलों की बुवाई की तैयारी करने लगते है.

इस महीने गर्मी बढ़ने लगती है तथा हवा गर्म होने साथ तेज चलने लगती है. जिससे फसलों की खास देखभाल करनी पड़ती है. इसलिए गाँव किसान आज अपने लेख में अप्रैल माह में बोने वाली फसलों (FARMING IN APRIL) की जानकारी देगा जिससे किसान भाई अधिक लाभ ले सकते है. तो आइये जानते है अप्रैल में बोई जाने वाली फसलों के बारे में –

साठी मक्का की बुवाई (sowing of maize)

साठी मक्का की बुवाई अप्रैल माह में की जाती है. इसकी पंजाबी साठी – 1 किस्म पूरे अप्रैल माह में बोई जा सकती है. साठी मक्का की सबसे बड़ी खासियत यह है कि यह अधिक गर्मी को सहन कर लेती है. इसके अलावा इस किस्म की फसल 60 से 70 दिन में पककर तैयार हो जाती है.

किसान भाइयों को इसकी बुवाई कतारों में करनी चाहिए. जिसमें कतार से कतार की बीच की दूरी 1 फीट रखनी चाहिए तथा बीज से बीज की दूरी करीब आधा फीट रखना चाहिए. जिससे खेती के अन्य कार्य जैसे निराई-गुड़ाई, सिंचाई आदि करने में आसानी होती है. बीज को बोने से पहले उपचारित अवश्य करे.

यह भी पढ़े : Tomato cherry farming | चेरी टमाटर की खेती कैसे करे | Cherry Tamatar ki kheti

बसंतकालीन मूंगफली की बुवाई (spring groundnut sowing)

गेहूं की कटाई के तुरंत बाद बसंतकालीन मूंगफली की एस० जी० 84 व एम० 722 किस्मों की बुवाई अप्रैल के अंतिम सप्ताह में की जा सकती है. इन किस्मों की फसल अगस्त से सितम्बर तक तैयार हो जाती है.

बुवाई से पहले मूंगफली के 38 किलोग्राम स्वस्थ बीजों को 200 ग्राम थीरम से उपचारित कर लेना चाहिए. इसके उपरान्त राइजोवियम जैव खाद से भी उपचारित कर ले. बीजों की बुवाई कतारों में करे. जिसमें लाइन से लाइन की दूरी एक फुट तथा पौधे से पौधे के बीच की दूरी 9 इंच तथा गहराई 2 इंच रखते है.

बेबी कॉर्न की बुवाई (baby corn sowing)

बेबीकार्न की संकर प्रकाश व कम्पोजिट केसरी किस्मों की बुवाई की जा सकती है इन किस्मों के 16 किलोग्राम बीज को एक फुट लाइनों में तथा 8 इंच पौधों में दूरी रखकर बो सकते है.

इसमें खाद मात्रा साठी मक्का के बराबर ही डाली जाती है. इसकी फसल 60 दिन में पककर तैयार हो जाती है. साथ ही आपको बताते चले कि इस मक्का के बिल्कुल कच्चे भुट्टे बिक जाते है जो कि होटलों में सलाद, सब्जी, अचार, पकौड़े व सूप बनाने के काम में आते है. इसके अलावा हमारे देश से इसका निर्यात भी किया जाता है.

अरहर की बुवाई करे (sow tur)

किसान भाई इस अप्रैल के महीने में अरहर की बुवाई कर सकते है. इस के लिए सिंचित अवस्था मे टी-21 तथा यू.पी. ए. एस. 120 किस्मों की बुवाई की जा सकती है.

इसके लिए किसान भाई 7 कि.ग्रा. बीज को राइजोवियम जैव खाद के साथ उपचारित करके 1.7 फुट दूर लाइनों पर इसकी बुवाई करे. इसकी बीजाई पर 1/3 बोरा यूरिया व 2 बोरे सिंगल सुपर फास्फेट डालना उपयुक्त रहता है. अरहर की 2 लाइनों के बीच एक मिश्रित फसल ( मूंग या उड़द) की लाइन भी लगाई जा सकती है जो 60 से 90 दिन में तैयार हो जाती है.

यह भी पढ़े : Medicinal plants cultivation : किसान भाई इन 5 औषधीय पौधों की खेती कर कमा सकते है कम लागत में अधिक मुनाफा

गन्ना की बुवाई करे  (sow sugarcane)

अप्रैल के इस महीने में किसान भाई गन्ने की भी बुवाई कर सकते है. इसके लिए किसान भाई गन्ना की  सी.ओ.एच.-37 किस्म को दवि-पंक्ति विधि से लगाएं.

गन्ने की बुवाई के समय फसल में 1 बोरा डी.ए.पी. तथा 1 बोरा यूरिया 2-2.5 फुट दूर बनी लाइनों में डालकर मिट्टी से ढक दे फिर ऊपर 37000 दो आखों वाली या 23000 तीन आखों वाली पोरियों (37-40 किंवटल) को 6 प्रतिशत पारायुक्त ऐमीसान या 0.27 प्रतिशत मेन्कोजैव के 100 लीटर पानी के घोल में 4-5 मिनट तक डुबों कर लगाएं.

इस बात का अवश्य ध्यान रखे कि गन्ने को उपचारित करने वाला व्यक्ति रबड़ के दस्ताने पहने तथा उसके हाथ में खरोंच न हो. पहली सिंचाई 6 सप्ताह बाद करनी चाहिए.

लोबिया की बुवाई करे (sow cowpea)

किसान भाई अप्रैल के इस महीने में लोबिया की बुवाई कर अधिक लाभ कमा सकते है. इसके लिए किसान भाई लोबिया की एफ एस 68 किस्म की बुवाई कर सकते है. जो 67-70 दिनों में पककर तैयार हो जाती है.

इसको किसान भाई गेहूं कटने के बाद एवं धान, मक्का लगने के बीच फिट हो जाती है तथा 3 क्विंटल तक पैदावार देती है. इसके 12 किलोग्राम बीज को 1 फुट दूर लाइनों में लगाएं तथा पौधों में 3-4 इंच का फासला रखना चाहिए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here