देश के किसानों को मिल सकेगी सस्ती खाद, सरकार द्वारा अनुदान देने का बड़ा ऐलान

0
21
Subsidy on Phosphatic and Potassic Fertilizers
किसानों को मिल सकेगी सस्ती खाद एवं उर्वरक

देश के किसानों को मिल सकेगी सस्ती खाद एवं उर्वरक

इस समय रबी की फसलों की बुवाई का समय है. इसके लिए किसान भाई अपने खेतों में रबी फसलों की बुवाई की तैयारी कर रहे हैं. ऐसे में किसान भाई अच्छे से अपनी फसलों  से ऊपर ले सकें. इसके लिए सरकार ने किसानों को एक बड़ा तोहफा दिया है. सरकार द्वारा फ़ॉस्फेटिक और पोटासिक खादों पर खादों पर 51875 रुपए का अनुदान देने का फैसला लिया है.

केंद्रीय कैबिनेट द्वारा फ़ॉस्फेटिक और पोटाश उर्वरक की नई दरों को मंजूरी प्रदान कर दी है. उर्वरकों की यह नई दरें रबी सीजन 2022-23 के लिए घोषित की गई हैं. उर्वरक किया नई दरें 1 अक्टूबर 2022 से लेकर 31 मार्च 2023 तक लागू की गई है. पीएम मोदी के अध्यक्षता में यह निर्णय लिया गया है. मोदी की केंद्रीय कैबिनेट में नाइट्रोजन फास्फोरस पोटाश जैसे विभिन्न तत्वों के लिए पोषक तत्व आधारित अनुदान के तहत में मूल्यों को मंजूरी दी गई है.

यह भी पढ़े : गायों के लिए आईसीयू (ICU) की व्यवस्था, अब संक्रामक रोगों से नहीं मरेगें पशु, मिलेंगी यह सुविधाएं

अंतरराष्ट्रीय कीमतों में वृद्धि के कारण सरकार द्वारा अनुदान

केंद्र सरकार द्वारा रवि की 2022 की फसल के लिए 51,875 को रुपए का अनुदान जारी किया गया है. इसमें किसानों को सभी फास्फेट और पोटाश उर्वरक रियायती/किफायती कीमतों पर उपलब्ध करा कर सहायता की जाएगी.इसके लिए सरकार द्वारा अंतरराष्ट्रीय कीमतों में  उर्वरक और कच्चे माल की बढ़ोतरी को सरकार द्वारा वहन किया जाएगा.

 उर्वरक की बढ़ी हुई कीमतें

  • फास्फोरस की नई कीमत – 66.93 रुपये प्रति किलोग्राम तय की गयी है.
  • नाइट्रोजन की नई कीमत – 9802 रुपये प्रति किलोग्राम तय की गयी है.
  • सल्फर की नई कीमत – 6.12 रुपये प्रति किलोग्राम तय की गयी है.
  • पोटाश की नई कीमत – 23.65 रुपये प्रति किलोग्राम तय की गयी है.

सरकार ने पहली छमाही में जारी किया इतना अनुदान 

सरकार द्वारा किसानों को फ़ॉस्फोरस और पोटाश उर्वरकों के लिए यूरिया और 25 ग्रेड उर्वरक रियती मूल्यों पर उपलब्ध करा रही है. फॉस्फेट और पोटास उर्वरकों पर सब्सिडी देने की प्रकिया 01 अप्रैल 2010 से जारी है. इसके तरहत उर्वरक कंपनियों को स्वीकृत दरों के अनुसार अनुदान दिया जाएगा, ताकि वे किसानों को सस्ती कीमतों पर उर्वरक उपलब्ध कराई जा सके. बता दें कि इस साल की पहली छमाही में भी केंद्र सरकार ने फॉस्फोटिक और पोटासिक खाद पर 60,939.23 रुपये का अनुदान दिया जायेगा.

यह भी पढ़े : खराब मौसम में भी अच्छा उत्पादन देगी गेहूं की यह किस्म, किसान भाई बनेंगे मालामाल

इन राज्यों में खाद की कमी

देश के कई राज्यों में अभी खाद भी खाद एवं उर्वरक की कमी है. जिनमें से मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, राजस्थान आदि राज्यों में खाद को लेकर झड़पों की खबरें समय समय पर आती रहती हैं. हालाँकि सरकार के अनुसार वह खाद वितरण केंद्रों पर समुचित मात्रा में उर्वरक की सप्लाई कर रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here