Home किसान समाचार Atma yojana : आत्मा योजना आखिर है क्या ? इससे किसानों को क्या-क्या...

Atma yojana : आत्मा योजना आखिर है क्या ? इससे किसानों को क्या-क्या लाभ मिलेंगे, आइए जानते हैं पूरी जानकारी

0
48
benefit from Atma Yojana
आत्मा योजना से किसानों को लाभ

आत्मा योजना से किसानों को लाभ

हमारा देश भारत एक कृषि प्रधान देश है. यहां के ज्यादातर किसान आज भी परंपरागत ढंग से खेती-किसानी के कार्य करते हैं. जिसके कारण उन्हें अधिक लाभ नहीं मिल पाता है. लेकिन कुछ बड़े किसान आधुनिक कृषि यंत्रों का उपयोग कर फसलों से अच्छी उपज ले रहे हैं. और अच्छी आय अर्जित कर रहे हैं.

परंपरागत खेती करने वाले किसानों का एक बड़ा वर्ग आज भी आधुनिक कृषि से काफी दूर है. इसीलिए ज्यादातर किसान अधिक आय अर्जित नहीं कर पा रहे हैं. जिससे उनका जीवनोपार्जन काफी दुष्कर है. सरकार द्वारा ऐसे किसानों को प्रोत्साहित एवं आय में बढ़ोतरी के लिए समय-समय पर विभिन्न योजनाओं के मध्य से आर्थिक मदद पहुंचाती रहती है. जिससे इनकी आय वृद्धि के साथ-साथ इनका जीवन यापन काफी आसान हो सके. इसी कड़ी में सरकार द्वारा आत्मा योजना (ATMA Scheme) की शुरुआत की गई है. तो आइए जानते हैं, आखिर आत्मा योजना है क्या ? और इससे किसानों को क्या-क्या लाभ मिल पाएंगे, पूरी जानकारी-

यह भी पढ़े : Trichoderma in Agriculture : किसान भाई अपनी खेती में ट्राइकोडर्मा का इस तरह करें उपयोग, मिलेंगे दो गुने फायदे

आखिर आत्मा योजना है क्या?

किसान आत्मा योजना की शुरुआत केंद्र सरकार द्वारा वर्ष 2005-06 में शुरू की गई थी. आत्मा योजना (ATMA YOJANA) का पूरा नाम (ATMA Scheme Full-Form) Agriculture Technology Management Agency है. इस योजना को ऐसे किसानों के लिए बनाया गया था. जो किसान परंपरागत खेती करते हैं. उन्हें आधुनिक खेती के बारे में कोई जानकारी नहीं है. आत्मा योजना के तहत ऐसे किसानों को आधुनिक खेती के लिए प्रोत्साहित करने के साथ-साथ आधुनिक कृषि यंत्रों का परीक्षण भी दिया जाएगा. जिससे वह कृषि यंत्रों की जानकारी लेकर आधुनिक ढंग से खेती कर पाए और अपनी फसलों से अच्छा उत्पादन पा सके. आत्मा योजना के अंतर्गत किसान भाई अपनी कृषि तकनीक में बदलाव कर आधुनिक तरीके से खेती करके अधिक आय अर्जित कर सकते हैं. इस योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा किसानों को समय-समय पर परीक्षण प्रशिक्षण दिया जाता है.

आत्मा योजना का मुख्य उद्देश्य आखिर है क्या 

इस योजना का प्रमुख उद्देश्य देश के छोटे स्तर के किसानों को प्रोत्साहित व आत्मनिर्भर एवं उनकी आय को बढ़ाना है. इस योजना के माध्यम से किसान और कृषि वैज्ञानिक एक दूसरे से जुड़ सकेंगे. योजना के तहत कृषि वैज्ञानिकों द्वारा किसानों को वैज्ञानिक पद्धति से खेती का प्रशिक्षण दिया जाएगा. कृषि वैज्ञानिकों के मुताबिक देश में प्रति क्षेत्रफल उपज बहुत ही कम है. इसीलिए किसान भाइयों द्वारा वैज्ञानिक विधि से खेती करके कम खर्च में अच्छी उपज प्राप्त कर सकेंगे. इस योजना का मुख्य उद्देश्य किसानों को आधुनिक तकनीक से जोड़ा जाए.

किसान आत्मा योजना से किसानों को लाभ (Atma Yojana Benefits)

  • इस योजना (Atma Scheme 2021) के माध्यम से किसानों को समय-समय पर खेती का आधुनिक प्रशिक्षण दिया जाएगा.
  • आत्मा योजना द्वारा कृषि प्रदर्शनी का आयोजन एवं किसानों को एक्स्पोज़र विजिट भी कराया जाएगा.
  • योजना के माध्यम से प्रशिक्षण लेने के बाद किसान भाई आधुनिक कृषि को अपनाकर अपनी फसल से अच्छी पैदावार प्राप्त कर अपनी आय को बढ़ा सकते हैं.
  • प्रशिक्षण प्राप्त किसान वैज्ञानिक खेती कर कम खर्च में भी अपनी फसलों से अधिक पैदावार ले सकते हैं.
  • आत्मा योजना के माध्यम से किसान कृषि वैज्ञानिकों द्वारा आधुनिक खेती की बारीकियों को आसानी से समझ पाएंगे.
  • कृषि वैज्ञानिकों द्वारा किसानों को जैविक खेती से जुड़ी तकनीक  की भी जानकारी दी जाएगी.
  • आत्मा योजना के द्वारा किसानों को दलहन, तिलहन, बागवानी और अनाज की उत्पादकता बढ़ाने के लिए प्रशिक्षण दिया जाता है
  • इस योजना के माध्यम से किसान भाई सुगंधित पौधे, नारियल, काजू की खेती के बारे में सभी वैज्ञानिक जानकारी पा सकेंगे.
  • सरकार द्वारा अभी तक यह योजना देश के 684 जिलों में ही लागू की गई है.

देश में आखिर वैज्ञानिक खेती की आवश्यकता क्यों

देश के कृषि वैज्ञानिकों के अनुसार देश में ज्यादातर जमीन पर अन्य देशों की अपेक्षा कम अनाज उत्पादन हो रहा है. क्योंकि अन्य देशों में कृषि की आधुनिक तकनीक का इस्तेमाल करके कम जमीन पर फसलों से अधिक उत्पादन लिया जा रहा है. अगर पड़ोसी देश चीन की बात करें, तो जितनी जमीन पर चीन का किसान 7 टन धान पैदा करता है, उतनी ही जमीन पर भारतीय किसान सिर्फ 3.5 टन धान का उत्पादन कर पाता है. अगर वैज्ञानिक तौर-तरीके से खेती करने की बात की जाए, तो नई मशीनों के इस्तेमाल के मामले में अन्य देश भारत से काफी आगे निकल गए हैं. अगर अन्य देशों से तुलना की जाए, तो वह भारत से प्रति हेक्टेयर 2 गुना चावल पैदा करता है. वहीं अमेरिका हम से 4 गुना मक्का व तीन गुना मूंगफली की अधिक पैदावार लेता है. इसीलिए हमारे देश के किसान भी चीन, अमेरिका व अन्य देशों के किसानों की तरह आधुनिक तौर-तरीके की तकनीक का इस्तेमाल खेती में करें, तो उनकी भी आए काफी ज्यादा हो जाएगी. इसीलिए हमारे देश को वैज्ञानिक खेती की जरूरत है.

यह भी पढ़े : PM Kisan Samman Nidhi : देश के इस राज्य के कई किसानों को पीएम किसान सम्मान निधि योजना का लाभ नहीं मिलेगा, जानिए क्यों

योजना की अधिक जानकारी के लिए यहां संपर्क करें

आत्मा योजना किसानों के लिए काफी उपयोगी योजना है. इस योजना के माध्यम से अभी तक देश के लगभग 20 लाख किसान प्रशिक्षण प्राप्त कर चुके हैं. यदि देश के अन्य किसान भी इस योजना का लाभ पाना चाहते हैं. तो वह अपने नजदीकी कृषि केंद्र पर जाकर योजना के बारे में पूरी जानकारी ले सकते हैं. और खेती के आधुनिक तौर-तरीके का प्रशिक्षण प्राप्त कर सकते हैं.

आत्मा योजना का फार्म पीडीएफ यहां से डाउनलोड कर सकते हैं

Download Kisan Atma Yojana PDF – Click Here

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here