Ambulance facility for treatment of animals : बीमार पशुओं के लिए एक काल पर आएगी एम्बुलेंस, किसान भाई जाने क्या पूरी जानकारी

0
Ambulance facility for treatment of animals
बीमार पशुओं के लिए एम्बुलेंस

Ambulance facility for treatment of animals | बीमार पशुओं के लिए एम्बुलेंस

Ambulance facility for treatment of animals : देश के किसान खेती के साथ पशुपालन भी करते है जो कि उनकी आय का एक अच्छा जरिया है. इसलिए सरकार द्वारा पशुपालकों की आय बढ़ाने एवं पशुओं को अच्छी स्वास्थ्य की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए कई योजनाएँ चलाई जा रही हैं. इन योजनाओं में पशुओं का टीकाकरणदवाओं का वितरणकृत्रिम गर्भाधान (artificial insemination) एवं पशुओं का इलाज आदि की सुविधाजनक योजनायें शामिल है. दूरदराज के गावों में रहने वाले पशुपालकों को और अच्छी सुविधा मिल पाए इसके लिए सरकार द्वारा पशु एम्बुलेंस सुविधा की शुरुवात की गयी है.

इसी क्रम में छत्तीसगढ़ राज्य सरकार द्वारा 20 अगस्त के दिन महासमुंद के हाई स्कूल मैदान में राजीव गांधी किसान न्याय योजना एवं अन्य योजनाओं के हितग्राहियों को राशि के अंतरण कार्यक्रम के पहले “मुख्यमंत्री गौवंश मोबाईल चिकित्सा योजना” (Chief Minister Cow Vansh Mobile Medical Scheme) के तहत महासमुंद जिले के लिए 7 तथा संभाग के अन्य जिलों के लिए 43 मोबाइल पशु चिकित्सा इकाईयों को हरी झण्डी दिखाकर सेवा की शुरुवात की गयी.

यह भी पढ़े : Top five early pea varieties in india : देश के किसान इन पाँच मटर की अगेती किस्मों से बनेगें मालामाल, आइए जाने पूरी जानकारी

मुफ्त पशु चिकित्सा सुविधा के साथ ही टोल फ्री नंबर पर परामर्श

छत्तीसगढ़ सरकार की यह योजना मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लिनिक योजना एवं मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना की तरह ही शुरूकी गयी है. मुख्यमंत्री गौवंश मोबाईल चिकित्सा योजना के तहत चिकित्सायुक्त 163  मोबाईल वैन के माध्यम से गौठानोंग्राम पंचायतों तक पहुंच सेवा एवं कॉल सेंटर के माध्यम से जी.पी.एसलगे मोबाईल वैन एवं पशु चिकित्सा सेवा की मॉनिटरिंग तथा परामर्श सुविधा किसान पशुपालकों को उपलब्ध कराई जाएगी. इसके अलावा इस योजना के तहत किसान पशुपालकों को  मुफ्त पशु चिकित्सा सुविधा के साथ ही टोल फ्री नंबर 1962 पर परामर्श की भी सुविधा प्रदान की जाएगी.

यह भी पढ़े : Electricity rates for irrigation in bihar : खेतों की सिंचाई के लिए सरकार किसानों से ले रही है इस रेट पर बिजली का बिल

किसान के पशुओं का इलाज अब घर पर 

छत्तीसगढ़ की राज्य सरकार का प्रमुख उद्देश्य यह कि मुख्यमंत्री गोवंश मोबाइल चिकित्सा योजना के तहत सभी गौवंश (पशुओंको वक्त पर बेहतर से बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराई जाय. इस मोबाइल चिकित्सा वाहन के द्वारा किसान पशुपालक के घर जाकर पशुओं का इलाज किया जायेगा. अब राज्य के किसी भी क्षेत्र के पशुपालक अपने पशुओं के बीमार होने पर जल्द से जल्द चिकित्सा वाहन को फोन से कॉल करके अपने पशु निवास स्थान तक बुला सकेगे.और बीमार पशु का इलाज करा सकेगे. इससे पशुपालकों के पशुओं का संरक्षण हो सकेगा. और पशु संरक्षण को बढ़ावा मिल सकेगा.

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here