बनास डेयरी का ऐलान पांच लाख से अधिक किसानों को मिलेगा 2 लाख रुपये से अधिक का बोनस

0
573
बनास डेयरी
बनास डेयरी से पांच लाख से अधिक किसानों को मिलेगा बोनस का फायदा 

बनास डेयरी से पांच लाख से अधिक किसानों को मिलेगा बोनस का फायदा 

नमस्कार किसान भाइयों, देश जहाँ कोरोना काल से गुजर रहा है. लोगो के पास काम नही है, और कंपनियों में ताले लग रहे है. ऐसे दौर में भी बनास डेयरी ने अपने पशुपालक किसानों को लाखों रूपये बोनस देने की घोषणा की है. यह बोनस अगले महीने अगस्त में किसानों के खाते में आएगा.

अब तक का सबसे बड़ा बोनस 

बनास डेयरी के चेयरमैन शंकर भाई चौधरी द्वारा बुधवार को घोषणा की गयी कि बनास डेयरी द्वारा अपने 5 लाख से अधिक पशुपालक किसानों को 1128 करोड़ रुपये का बोनस दिया जाएगा. इस बोनस के तहत प्रत्येक पशुपालक किसान के खाते में लगभग 225,600 रुपये भेजे जायेगें. घोषित रकम देश में किसी भी सहकारी डेयरी द्वारा घोषित अब तक की सबसे बड़ी बोनस रकम है.

बनास डेयरी द्वारा अपनी दुग्ध समितियों को 125 करोड़ रुपये का डिबेन्चर्स का भुगतान करेगी. साथ ही उत्तर गुजरात में बनासकांठा जिले के 5.5 लाख पशुपालक किसानों को 1007 करोड़ रुपये बैंक में सीधे भुगतान किया जायेगा. पिछले वित्त वर्ष 2019-2020 में बनास डेयरी द्वारा 1144 करोड़ रुपये का बोनस भुगतान किया गया था.

यह भी पढ़े : खरगोश पालन कैसे करे ? जिससे हो लाखों रुपये कमाई | Rabbit farming

बनास डेयरी का राजस्व बढ़ा 11 प्रतिशत 

चेयरमैन श्री चौधरी ने बताया वित्त वर्ष 2020-21 में बनास डेयरी का राजस्व 11 फीसदी बढकर लगभग 1300 करोड़ हो गया है. जिसमें दुग्ध और गैर-दुग्ध व्यवसाय जैसे खाद्य तेल, शहद आदि ने इस बढ़ोत्तरी में विशेष योगदान दिया है. इसके अलावा श्री चौधरी ने बताया हमने लागत अनुकूलन उपायों को अपनाया है और लागत कम करने के लिए अपने खर्चों में कटौती की है. बनास डेयरी अपनी कुल आय का 82.28 फीसदी हिस्सा किसान दुग्ध-उत्पादकों को देती है.

यह भी पढ़े : बारिश के इस मौसम में अपने पशुओं की देखभाल कैसे करे ?

दूसरे विकसित डेयरी उत्पादक देशों से अधिक भुगतान

आपकों बता दे ज्यादा विकसित डेयरी उतपादक देश भी बनास डेयरी के बराबर अपने किसानों को भुगतान नही करते है. अर्जेंटीना अपने किसान पशुपालकों को 22 रुपये प्रति लीटर, ब्राजील 31 रुपये लीटर, न्यूजीलैंड और अमेरिका 30 रुपये प्रति लीटर का भुगतान करते है. जबकि बनास डेयरी अपने दूध उत्पादक किसानों को 41.30 रुपये प्रति लीटर का भुगतान करती है. बनास डेयरी के पास स्थापित प्रंस्करण क्षमता 58 लाख लीटर प्रदीन की है. वित्त वर्ष 2001-02 में बनास डेयरी का राजस्व 373 करोड़ रुपये था. जो अब 2020-21 में बढकर 12,983 करोड़ रुपये हो गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here