आम का पिटिका मिज | Mango gall midge | Mango pests

0
397
आम का पिटिका मिज
आम का पिटिका मिज | Mango gall midge

आम का पिटिका मिज | Mango gall midge

नमस्कार किसान भाईयों, आम का पिटिका मिज कीट (Mango gall midge) आम की पत्तियों, टहनियों, फूलों, कलियों और छोटे फलों को नुकसान पहुंचता है. जिससे उपज को काफी नुकसान पहुंचता है. इसलिए गाँव किसान (Gaon kisan) आज अपने इस लेख में आम की पिटिका मिज कीट (Mango gall midge) की पूरी जानकारी देगा. जिससे किसान भाई अपने आम की बाग़ को इस कीट के प्रकोप से बचा सके. तो आइये जानते है आम का पिटिका मिज कीट (Mango gall midge) के बारे में पूरी जानकारी-

आम का पिटिका मिज कीट की पहचान 

इस कीट का वयस्क कीट मच्छर के आकार से छोटा होता है. इसका शरीर गहरा भूरा या काला होता है. पंख पारदर्शी होते है. पंखों में बहुत कम नसें पाई जाती है. टांगें लम्बी होती है. और उन पर बाल पाए जाते है. श्रंगिकाएं 14 खंडीय होती है. इसके मैगट हल्के पीले तथा लगभग 0.02 से० से 0.02 मिमी० लम्बे होते है.

कीट के पाए जाने वाले क्षेत्र

यह कीट पूरे भारत में पाया जाता है. यह आम की सभी बागों में पाया जाता है. भारत के अलावा यह कीट अफ्रीका, मारीशस, दक्षिणी अफ्रीका आदि देशों में पाया जाता है.

यह भी पढ़े : आम का पर्णकर्तक घुन | Mango leaf cutting weevil | Mango pests

आम की फसल को क्षति 

यह कीट आम की पत्तियों में विभिन्न आकार की पिटिकाएँ बनाता है. इस प्रकार की पत्तियों पर छालें जैसे नजर आते है. और पत्तियां बड़ी होने के पूर्व ही गिर जाती है. पत्तियों, टहनियों, बौर कलियों और छोटे फलों पर यह कीट पिटिकाएँ बनाते है. ऐसे फूल एवं फल जल्दी ही गिर जाते है. क्षतिग्रस्त कलियाँ विकसित नही हो पाती है.

कीट का जीवन चक्र 

इस कीट का वयस्क मार्च महीने में दिखलाई पड़ता है. मादा संगम करके मुलायम पत्तियों की निचली सतह, फूल, पुष्पक्रम, उनके डंठल, कलियों आदि में अड़े देती है. ये अंडे 3 से 4 दिन में फूट जाते है. और इनसे छोटे-छोटे मैगट निकलते है. जो पत्तियों में ही खाते रहते है. और पिटिका बनाते रहते है. ये कीट या तो पत्तियों में ही खाते रहते है. और पिटिका बनाते रहते है. ये कीट या तो पत्तियों में ही प्यूपा बनाते है. और वयस्क कीट ही बाहर आते है. अथवा पत्तियों के बाहर, जमीन में प्यूपा बनाते है. इन प्यूपा से 3 से 6 दिनों में वयस्क कीट निकलते है.

यह भी पढ़े : आम का पिस्सू-घुन कीट | Mango flea weevil | Mango pests

कीट का रोकथाम 

  • क्षतिग्रस्त पत्तियों को एकत्र करके जला देना चाहिए.
  • फास्फोमिडान के 0.02 प्रतिशत या रोगर के 0.04 प्रतिशत के घोल के छिड़काव से इस कीट का नियंत्रण किया जा सकता है.

निष्कर्ष 

किसान भाईयों उम्मीद है गाँव किसान (Gaon Kisan) के इस लेख से आम का पिटिका मिज कीट की पूरी जानकारी मिल पायी होगी. फिर भी आम के कीट से सम्बंधित आपका कोई प्रश्न हो तो कमेन्ट बॉक्स में कमेन्ट कर पूछ सकते है इसके अलावा यह लेख कैसा लगा कमेन्ट कर जरुर बताएं, महान कृपा होगी.

आप सभी का बहुत-बहुत धन्यवाद, जय हिन्द.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here