आम का पर्णकर्तक घुन | Mango leaf cutting weevil | Mango pests

0
515
आम का पर्णकर्तक घुन
आम का पर्णकर्तक घुन | Mango leaf cutting weevil

आम का पर्णकर्तक घुन | Mango leaf cutting weevil

नमस्कार किसान भाईयों, आम का पर्णकर्तक घुन आम की पत्तियों को नुकसान पहुंचता है. जिससे आम के पौधों को नुकसान पहुंचता है. यह कीट आम के पौधों के लिए काफी घातक होता है. इसलिए गाँव किसान (Gaon Kisan) आज अपने इस लेख से आम का पर्णकर्तक घुन की पूरी जानकारी देगा. जिससे किसान भाई अपने आम के पौधों को इस कीट के प्रकोप से बचा सके. तो आइये जानते है आम का पर्णकर्तक घुन के बारे में पूरी जानकारी-

आम का पर्णकर्तक घुन कीट की पहचान 

यह घुन कीट लगभग 10 मिमी० लम्बे तथा गहरे भूरे होते है. इसका प्रोथ (snout) शरीर की लम्बाई का लगभग आधी होती है. नर की अपेक्षा मादा आकार में कुछ बड़ी होती है. पूर्ण विकसित भृंगक भद्दे हरे रंग का तथा लगभग 5 मिमी० लंबा होता है.

कीट पाए जाने वाला क्षेत्र

यह कीट भारत, पकिस्तान, श्रीलंका, बर्मा व बांग्लादेश में काफी संख्या में पाया जाता है. भारत में यह उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, बिहार, पंजाब, हरियाणा, गुजरात, पश्चिम बंगाल व महाराष्ट्र आदि राज्यों में काफी क्षति पहुंचता है.

यह भी पढ़े : आम का पिस्सू-घुन कीट | Mango flea weevil | Mango pests

आम के पौधों को क्षति 

यह घुन प्रारंभ में पत्तियों में छोटे-छोटे छेद बनाता है. और बाद में लगभग एक चौथाई से एक तिहाई पत्तियों को काट देता है. कटी हुई मुलायम पत्तियों के बड़े टुकडे जमीन पर गिरे ऐसे दिखाई देते है. मानों किसी तेज धार वाली कैची से काटे गए हो. छोटे पौधों में अपेक्षाकृत अधिक क्षति होती है.

अन्य परपोषी पौधे 

आम के अलावा यह कीट पाकड़, जामुन व पीपल के पौधों को क्षति पहुंचता है.

कीट का जीवन चक्र

इस कीट वैज्ञानिक नाम डेपोराउस मार्जीनेट्स (Deporaus marginatus) है. यह कुर्कलिओनिडी कुल का पौधा है. इस कीट की वयस्क मादा पत्तियों की निचली सतह पर मध्य शिरा के समान्तर अपने अंडनिक्षेपक से 75 से 225 से अंडे देती है. ये अंडे अपारदर्शी और लगभग 1/2 मिमी० लम्बे होते है. ये अंडे अधिकान्शतः अकेले अलग-अलग दिए जाते है, परन्तु कभी-कभी एक गड्ढे में दो अंडे भी पाए जाते है. और पत्ती में 50 अंडे तक पाए जाते है. ये 2 से 3 दिन में फूट जाते है. और इनसे छोटे भृंगक निकलते है. जो पत्तियों के ऊपरी एवं निचली वाह्य त्वचा के बीच के ऊतकों को खाते है. लगभग एक सप्ताह इस प्रकार पत्तियों के ऊतकों को खाने के बाद ये पूर्ण विकसित हो जाते है. और फिर पत्तियों से बाहर आकर जमीन में विशेष प्रकार की कोष्ठिका में प्यूपवस्था में परिवर्तित हो जाते है. ये प्यूपे 7 से 9 दिन में फूट जाते है. और इनसे घुन निकलते है. जो अपना जीवन चक्र पुनः शुरू करते है.

यह कीट अगस्त से अक्टूबर तक सक्रिय रहता है. इसका एक जीवन चक्र लगभग 3 से 4 सप्ताह में पूरा हो जाता है. एक वर्ष में इसकी 3 पीढियां पायी जाती है. शीतकाल में यह कीट प्यूपा के रूप में सुसुप्तावस्था में चला जाता है. और आगामी वर्षाकाल में पुनः वयस्क रूप में निकल कर जीवन चक्र शुरू करना है.

यह भी पढ़े : आम का गुठली वेधक घुन | Mango stone weevil

कीट की रोकथाम 

  • यह कीट द्वारा काटी हुई या काट कर निराई हुई पत्तियों को नित्य एकत्र करके नष्ट कर देना चाहिए.
  • पेड़ों के चारों तरफ जुताई या गुड़ाई करने से शीत में प्यूपा नष्ट हो जाते है. और इस कीट का प्रकोप कम हो जाता है.
  • बी० एच० सी० की 5 प्रतिशत धुल का बुरकाव करने से या 0.05 प्रतिशत बी० एच० सी० के घोल के छिड़काव से इस कीट का नियंत्रण आसानी से किया जा सकता है.

निष्कर्ष 

किसान भाईयों उम्मीद है गाँव किसान (Gaon Kisan) के इस लेख से आम के पर्णकर्तक घुन कीट की पूरी जानकारी मिल पायी होगी. फिर भी आम के कीटों से सम्बंधित आप का कोई प्रश्न हो तो कमेन्ट बॉक्स में कमेन्ट कर पूछ सकते है. इसके अलावा आपको यह लेख कैसा लगा कमेन्ट कर जरुर बताएं, महान कृपा होगी.

आप सभी का बहुत-बहुत धन्यवाद, जय हिन्द.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here